क्रूज ड्रग्स केस: शाहरुख के बेटे आर्यन की गिरफ्तारी मामले में बड़े खुलासे! गवाह का दावा- 18 करोड़ में तय हुई थी डील

प्रभाकर ने यह भी दावा है कि क्रूज पर छापेमारी के बाद शाहरुख खान की मैनेजर पूजा डडलानी के साथ केपी गोसावी और सैम को नीले रंग की मर्सिडीज कार में एकसाथ करीब 15 मिनट तक बात करते उसने देखा था। उसके बाद गोसावी ने उसे फोन किया था और बतौर पंच बनने को कहा था।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

मुंबई क्रूज ड्रग्स केस में बड़े खुलासे हुए हैं। अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के खिलाफ केस में पंच बनाए गए प्रभाकर सेल ने एक हलफनामा देकर बड़े खुलासे किए हैं। पंच प्रभाकर ने एनसीबी के जोनल प्रमुख समीर वानखेड़े और दूसरे गवाह केपी गोसावी पर बड़े और गंभीर आरोप लगाए हैं।

प्रभाकर ने इस केस में बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि उसने केपी गोसावी और सैम को 25 करोड़ रुपये की बात करते सुना था और 18 करोड़ पर बात बनी, ऐसा कहते सुना। प्रभाकर का दावा है कि गोसावी और सैम ने कथित तौर पर 8 करोड़ रुपये एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े को देने की बात कही थी।

प्रभाकर ने यह भी दावा है कि क्रूज पर छापेमारी के बाद शाहरुख खान की मैनेजर पूजा डडलानी के साथ केपी गोसावी और सैम को नीले रंग की मर्सिडीज कार में एकसाथ करीब 15 मिनट तक बात करते उसने देखा था। प्रभाकर ने बताया कि उसके बाद गोसावी ने उसे फोन किया था और बतौर पंच बनने को कहा था। उसने यह भी बताया है कि एनसीबी उससे 10 सादे कागज पर दस्तखत करवाए थे।

प्रभाकर ने दावा किया है कि उसने 50 लाख नगदी से भरे दो बैग गोसावी को दिए। उसने दावा किया है कि 1 अक्टूबर को रात 9 बजकर 45 मिनट पर गोसावी ने फोन कर 2 अक्टूबर की सुबह 7:30 बजे तक तैयार होने और एक स्थान पर आने को कहा था। उसने यह भी दावा किया कि गोसावी ने उसे कुछ तस्वीरें दी थीं और ग्रीन गेट पर उन लोगों की पहचान करने के लिए कहा था, जो फोटो में हैं।


गौर करने वाली बात यह है कि आरोप लगाने वाला प्रभाकर ने खुद को केपी गोसावी का बॉडीगार्ड बताया है। केपी गोसावी वही व्यक्ति है, जिसकी तस्वीर आर्यन खान के साथ वायरल हुई थी। केपी गोसावी वह प्राइवेट डिटेक्टर है।

वहीं, नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के अधिकारी समीर वानखेड़े ने मामले में किसी भी तरह की गड़बड़ी से इनकार किया है। वानखेड़े ने कहा कि वह इसका करारा जवाब देंगे। खबरों के मुताबिक, ऑफ द रिकॉर्ड अधिकारियों ने कहा कि वे 2 अक्टूबर से पहले प्रभाकर सेल से कभी नहीं मिले और उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है कि वह कौन है?

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 24 Oct 2021, 1:02 PM