दाऊद इब्राहिम से जुड़े मुंबई में कई ठिकानों पर ईडी ने मारा छापा, दिवंगत हसीना पारकर के घर पर भी रेड

सूत्र ने कहा, "हम मुंबई और आसपास के इलाकों में दस स्थानों पर छापेमारी कर रहे हैं। ये गैंगस्टर दाऊद इब्राहिम और उसके सहयोगियों से जुड़े पिछले मनी लॉन्ड्रिंग मामले से संबंधित हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मंगलवार को अंडरवल्र्ड डॉन दाऊद इब्राहिम से जुड़े कई ठिकानों पर मुंबई और आसपास के इलाकों में प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) मामले में छापेमारी की। दाऊद इब्राहिम की बहन, दिवंगत हसीना पारकर के घर पर ईडी के कुलीन अधिकारियों की एक टीम ने सुबह-सुबह छापा मारा।

सूत्रों ने बताया कि छापेमारी के दौरान उनके पास से कुछ आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद हुए हैं। सूत्र ने कहा कि दाऊद इब्राहिम के साथ संबंधों को लेकर महाराष्ट्र का एक राजनेता भी ईडी की नजरों में है।

सूत्र ने कहा, "हम मुंबई और आसपास के इलाकों में दस स्थानों पर छापेमारी कर रहे हैं। ये गैंगस्टर दाऊद इब्राहिम और उसके सहयोगियों से जुड़े पिछले मनी लॉन्ड्रिंग मामले से संबंधित हैं। एक संपत्ति सौदा जांच के दायरे में है, जिसमें महाराष्ट्र के एक वरिष्ठ राजनेता भी कथित रूप से शामिल हैं।"

ईडी नेताओं और दाऊद के कथित सहयोगियों के पैसे के लेन-देन की भी जांच कर रहा है। उन्होंने कहा कि वे इस मामले पर लंबे समय से काम कर रहे थे।

दाऊद अभी भी अपने बिचौलियों के जरिए रियल एस्टेट कारोबार को नियंत्रित कर रहा है। हवाला नेटवर्क के जरिए उसे और उसके सहयोगियों को पैसा भेजा जाता है। इस पैसे का इस्तेमाल कथित तौर पर विभिन्न आतंकी मॉड्यूल द्वारा पूरे भारत में राष्ट्र-विरोधी और आतंकवादी गतिविधियों को फैलाने के लिए किया जा रहा है। पता चला है कि पाकिस्तान की आईएसआई दाऊद को अपना धंधा चलाने और धंधे से कमाए गए पैसों से आतंकी गतिविधियों को फैलाने में मदद कर रही है। फिलहाल ईडी ने कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है।

सूत्रों ने कहा कि एक संपत्ति सौदा उनके रडार पर आया था जिसके बाद मनी लॉन्ड्रिंग की जांच शुरू की गई थी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia