'बिना सर्च वारंट दिखाए TMC नेता के आवास पर तोड़फोड़ करने लगी थी ED', अधिकारियों के ख‍िलाफ जवाबी FIR दर्ज

प्रवर्तन निदेशक (ईडी) के अधिकारियों के खिलाफ एक जवाबी प्राथमिकी दर्ज की गई है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

राशन घोटाला मामले में शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना में छापेमारी करने पहुंची ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) की टीम पर टीएमसी नेता के समर्थकों की भीड़ ने हमला कर दिया था। अब शनिवार को प्रवर्तन निदेशक (ईडी) के अधिकारियों के खिलाफ एक जवाबी प्राथमिकी दर्ज की गई है।

सजहान के व्यवसाय से जुड़े एक कर्मचारी द्वारा स्थानीय नज़ात पुलिस स्टेशन में हमलावर ईडी अधिकारियों के खिलाफ जवाबी एफआईआर दर्ज की गई है, इसमें उन्होंने दावा किया है कि केंद्रीय एजेंसी के अधिकारियों ने किसी भी प्रकार का तलाशी वारंट प्रस्तुत किए बिना अनधिकृत तरीके से तृणमूल कांग्रेस नेता के आवास के दरवाजे तोड़ने की कोशिश की।

आपको बता दें, शुक्रवार सुबह ईडी अधिकारियों पर हुए हमले में उनके तीन अधिकारी घायल हो गए और उनके मोबाइल फोन, लैपटॉप और वॉलेट जैसे निजी सामान भी लूट लिए गए। ईडी ने दावा किया है कि उनके अधिकारियों और उनके साथ आए सीएपीएफ कर्मियों पर 1,000 पुरुषों और महिलाओं के एक समूह ने हमला किया था।

राज्य पुलिस सूत्रों ने बताया कि इस मामले में नज़ात पुलिस स्टेशन में कुल तीन एफआईआर दर्ज की गई हैं। एक जहां हमला करने वाले केंद्रीय एजेंसी के अधिकारियों के खिलाफ है, वहीं दूसरी एफआईआर ईडी ने हमले का विवरण देते हुए दर्ज की है। उस एफआईआर के साथ, ईडी के अधिकारियों ने सबूत के तौर पर हमलों पर कुछ वीडियो क्लिपिंग भी उपलब्ध कराई हैं।


तीसरी घटना हमले की जगह का सर्वेक्षण करने के बाद जिला पुलिस द्वारा दर्ज की गई स्वत: संज्ञान वाली एफआईआर है। जिला पुलिस ने बताया कि ईडी और उसके खिलाफ दर्ज दोनों एफआईआर पर जांच शुरू हो गई है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;