'असानी' का असर, आंध्र प्रदेश में भारी बारिश, आज इन तटों से होकर गुजरेगा चक्रवाती तूफान, रहें सावधान!

आंध्र प्रदेश के तट पर 55-65 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल रही है। बुधवार को हवा की रफ्तार बढ़ने की संभावना बनी हुई है। मौसम विभाग की मानें तो आंध्र प्रदेश तट कृष्णा, पूर्व और पश्चिम गोदावरी, पुडुचेरी और विशाखापत्तनम जिलों में 70-80 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

भयंकर चक्रवाती तूफान 'असानी' के चलते आंध्र प्रदेश के तटीय इलाके और रायलसीमा क्षेत्रों में बुधवार को तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है। लेकिन बंगाल की खाड़ी में यह तूफान कमजोर पड़ गया है। बुधवार सुबह चक्रवाती तूफान मछलीपट्टनम से लगभग 50 किमी दक्षिण-पूर्व, काकीनाडा से 150 किमी दक्षिण-पश्चिम और विशाखापत्तनम से 290 किमी दक्षिण-पश्चिम में केंद्रित था।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, चक्रवाती तूफान दोपहर से शाम के दौरान नरसापुर, यनम, काकीनाडा, तुनी और विशाखापत्तनम तटों से होकर गुजरेगा। इसके बाद तूफान के रात में उत्तरी आंध्र प्रदेश के तटों से पश्चिम बंगाल की खाड़ी की ओर बढ़ने की संभावना हैं।

आंध्र प्रदेश के उत्तर तटीय क्षेत्रों के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश, तो कुछ जगहों पर भारी बारिश होने की संभावना बनी हुई हैं।

आंध्र प्रदेश के तट पर 55-65 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल रही है। बुधवार को हवा की रफ्तार बढ़ने की संभावना बनी हुई है। मौसम विभाग की मानें तो आंध्र प्रदेश तट कृष्णा, पूर्व और पश्चिम गोदावरी, पुडुचेरी और विशाखापत्तनम जिलों में 70-80 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है। हालांकि गुरुवार की सुबह तक हवा की गति घट जाएगी।

आईएमडी ने कहा कि भयानक तूफान और बारिश के कारण आंध्र प्रदेश के पूर्वी और पश्चिम गोदावरी जिले और पुडुचेरी के यनम के निचले इलाकों में पानी भरने की संभावना है।

सभी तटीय जिलों को अलर्ट पर रखा गया है। अधिकारियों ने बताया कि राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) की नौ टीमों को तुरंत प्रभावित जिलों में भेजा गया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia