चुनाव आयोग ने जम्मू-कश्मीर में चुनाव कराने के दिए संकेत, कहा- मौसम और सुरक्षा के हालात देखकर होगा चुनाव

जम्मू-कश्मीर में चुनाव कब होंगे, इस पर सभी की नजरें टिकी हैं। 2019 में धारा 370 हटने और केंद्र शासित घोषित होने के बाद से प्रदेश चुनाव का इंतजार कर रहा है। कई क्षेत्रीय पार्टियां भी कई महीनों से राज्य का दर्जा बहाल करने और चुनाव कराने की मांग कर रही हैं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

चुनाव आयोग ने बुधवार को त्रिपुरा, मेघालय और नागालैंड में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान करते हुए जम्मू कश्मीर में भी विधानसभा चुनाव कराने के संकेत दिए। मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा, सभी प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। जम्मू कश्मीर में मौसम और सुरक्षा के हालात को ध्यान में रखकर चुनाव होगा।

ऐसे में संभावना जताई जा रही है जल्द वहां चुनाव कराए जा सकते हैं। चुनाव आयुक्त ने आज जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव को लेकर पूछे गए सवाल पर कहा कि डिलिमिटेशन और एसएसआर की प्रक्रिया पूरी की जा चुकी है। इसके अलावा पोलिंग बूथ को फिक्स करने की प्रक्रिया भी पूरी की जा चुकी है। सभी तैयारियां पूरी की जा चुकी हैं।


मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि हमें पता है कि अगर चुनावी तैयारियां जब पूरी हो चुकी हैं, तो मतदान होना चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य में मौसम और सुरक्षा की स्थिति की समीक्षा के साथ-साथ अन्य राज्यों के शेड्यूल को देखते हुए ये तय किया जाएगा कि जम्मू-कश्मीर में चुनाव कब होगा।

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव कब होंगे, इस सवाल पर सभी की नजरें टिकी हुई हैं। 2019 में धारा 370 के हटने और प्रदेश को केंद्र शासित प्रदेश घोषित करने के बाद से जम्मू कश्मीर चुनाव का इंतजार कर रहा है। कई क्षेत्रीय पार्टियां भी पिछले कई महीनों से जम्मू-कश्मीर का राज्य का दर्जा बहाल करने और विधानसभा चुनाव करने की मांग कर रही हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;