योगी आदित्यनाथ ने इंडियन आर्मी को बोला था ‘मोदी जी की सेना’, चुनाव आयोग ने तलब की रिपोर्ट

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चुनावी सभा में सेना से जुड़ा एक बयान देना महंगा पड़ सकता है। चुनाव आयोग ने योगी के उस बयान की रिपोर्ट तलब की है जिसमें उन्होंने भारतीय सेना को ‘मोदी जी की सेना’ कहा था।

Photo : Getty Images
Photo : Getty Images

नवजीवन डेस्क

बीजेपी के स्टार प्रचारक और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक बयान को लेकर मुश्किल में घिरते नजर आ रहे हैं। योगी ने रविवार को उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक चुनावी सभा में भारतीय सेना को ‘मोदीजी की सेना’ करार दिया।

योगी के इस बयान पर अच्छा खासा बवाल मच गया था। अब चुनाव आयोग ने गाजियाबाद प्रशासन से इस मामले में रिपोर्ट मांगी है। सूत्रों का हना है कि चुनाव आयोग ने मीडिया रिपोर्ट का संज्ञान लेते हुए रिपोर्ट तलब की है। चुनाव आयोग के निर्देश मिलने के बाद गाजियाबाद के डीएम अपनी रिपोर्ट उत्तर प्रदेश के मुख्य चुनाव अधिकारी को भेजेंगे।

योगी ने कहा था कि, ‘‘कांग्रेस के लिए जो नामुमकिन था, वह अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए मुमकिन है, क्योंकि, जहां मोदी जी हैं, वहां नामुमकिन भी मुमकिन बन जाता है।’’ योगी ने आगे कहा था कि, ‘‘कांग्रेस के लोग आतंकवादियों को बिरयानी खिलाते थे और मोदी जी की सेना आतंकवादियों को गोली और गोला देती है। यही अंतर है। कांग्रेस के लोग मसूद अजहर के नाम के आगे ‘जी’ लगाते हैं, ताकि आतंकवाद को बढ़ावा मिले।’’

भारतीय सेना को “मोदीजी की सेना” बताए जाने पर तमाम विपक्षी दलों ने बीजेपी और योगी आदित्यनाथ की तीखी आलोचना की थी। कांग्रेस नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने योगी आदित्यनाथ पर इस बयान को लेकर हमला किया था। उन्होंने योगी आदित्यनाथ से माफी की मांग की थी। उन्होंने ट्वीट किया कि, “यह हमारी भारतीय सेना का अपमान है। वे भारतीय सेना के जवान हैं, किसी प्राइवेट प्रचार मंत्री के नहीं। योगी आदित्यनाथ को माफी मांगनी चाहिए।”

गौरतलब है कि 14 फरवरी को कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आत्मघाती हमला हुआ था जिसमें 40 जवानों की शहादत हुई थी। इसके बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक कर आतंकी ठिकानों पर बमबारी की थी। इसके बाद से ही बीजेपी के शीर्ष नेता इस कार्रवाई का बखान कर रहे हैं और इसका राजनीतिक फायदा उठाने की कोशिश कर रहे हैं।

Published: 1 Apr 2019, 10:25 PM
लोकप्रिय