5 चुनावी राज्यों को चुनाव आयोग का पत्र, कोरोना वैक्सीनेशन की रफ्तार को तेज करने के दिए निर्देश

अधिकारियों के हवाले से सूत्रों ने कहा कि चुनाव आयोग ने मणिपुर राज्य में टीके की पहली खुराक के कम प्रतिशत पर भी चिंता व्यक्त की है और सरकार से वहां टीकाकरण अभियान को तेज करने को कहा है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

भारत निर्वाचन आयोग (ईसीआई) ने उन पांच राज्यों के मुख्य सचिवों को पत्र लिखकर टीकाकरण अभियान तेज करने को कहा है, जहां आगामी विधानसभा चुनाव होने हैं। सूत्रों ने सोमवार को यहां यह जानकारी दी।

अधिकारियों के हवाले से सूत्रों ने कहा कि चुनाव आयोग ने मणिपुर राज्य में टीके की पहली खुराक के कम प्रतिशत पर भी चिंता व्यक्त की है और सरकार से वहां टीकाकरण अभियान को तेज करने को कहा है।

पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में जल्द ही विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं और चुनाव के कार्यक्रम की घोषणा इसी महीने होने की संभावना है।

चुनाव आयोग की ओर से इस संबंध में चिंता जाहिर करने के बाद केंद्र सरकार ने पिछले साल 27 दिसंबर को सभी चुनावी राज्यों को जल्द से जल्द पात्र आबादी के लिए कोविड टीकाकरण शुरू करने की सलाह दी थी। सरकार ने संबंधित राज्यों को कोरोनावायरस के मामलों में तेजी से वृद्धि और इसके नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को रोकने के लिए परीक्षण बढ़ाने की भी सलाह दी है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से 27 दिसंबर को जारी आदेश के तहत पूरे देश में कोविड-19 प्रोटोकॉल और स्वास्थ्य उपायों को 31 जनवरी तक बढ़ा दिया गया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मतदान वाले राज्यों को कोविड व्यवहार को सख्ती से लागू करने और किसी विशेष क्षेत्र या स्थानों में मामले सामने आने पर नए कंटेनमेंट जोन निर्धारित करने के निर्देश भी जारी किए हैं।

सभी पांच मतदान वाले राज्यों ने 27 दिसंबर को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और ईसीआई अधिकारियों के साथ पिछली बैठक में अपने नवीनतम टीकाकरण अपडेट की जानकारी दी थी, जिसमें उत्तराखंड और गोवा ने राष्ट्रीय औसत से अधिक पहली और दूसरी खुराक के लिए टीकाकरण कवरेज की सूचना दी है, जबकि उत्तर प्रदेश, पंजाब और मणिपुर ने बताया है कि उनके यहां कोविड-19 टीकाकरण कवरेज संख्या राष्ट्रीय औसत से नीचे है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia