कांग्रेस चिंतन शिविर को लेकर नेताओं-कार्यकर्ताओं में जोश, बोले- दोराहे पर खड़े देश को मिलेगा सही रास्ता

कांग्रेस नेता डॉ. रागिनी नायक ने कहा कि जनता की आकांक्षाओं पर खरा उतरने के लिए, राजनीतिक, संगठनात्मक और सामाजिक रूप से और ज्यादा सशक्त होने के लिए, निरंकुश मोदी सरकार पर अंकुश लगाने के लिए कांग्रेस पार्टी का आत्ममंथन और चिंतन जरूरी है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

राजस्थान के उदयपुर में कल से शुरू हो रहे तीन दिवसीय कांग्रेस चिंतन शिविर को लेकर पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं में भारी जोश है। कांग्रेस नेताओं ने नव संकल्प चिंतन शिविर को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि निरंकुश मोदी सरकार पर अंकुश लगाने के लिए यह आत्ममंथन और चिंतन जरूरी है।

राजस्थान के मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत ने कहा कि देश और दुनिया जानती है कि कांग्रेस का इतिहास क्या रहा है। जिस प्रकार से आजादी के वक्त से ही गांधीजी के सानिध्य में संघर्ष हुआ, त्याग-बलिदान हुए, स्वतंत्रता सेनानी जेलों में रहे। आधुनिक भारत उन्हीं त्याग-बलिदान की देन है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि कांग्रेस के नवसंकल्प चिंतन शिविर को लेकर देशभर के कांग्रेस कार्यकर्ताओं में एक नया उत्साह देखने को मिल रहा है।


वरिष्ठ कांग्रेस नेता मुकुल वासनिक ने कहा कि सभी देशवासी जानते हैं कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना 1885 में हुई थी, स्वाधीनता संग्राम में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की अहम भूमिका रही है।

कांग्रेस नेता और वरिष्ठ प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि कांग्रेस का नव संकल्प चिंतन शिविर इसलिए ऐतिहासिक है, क्योंकि भारत एक ऐसे मुकाम पर खड़ा है, जहां से दो रास्ते जा रहे हैं। एक रास्ता विनाश और तबाही का रास्ता है और दूसरा रास्ता वो रास्ता है जिस पर चलकर प्रत्येक भारतवासी को मंजिल मिलेगी।


वहीं कांग्रेस नेता डॉ. रागिनी नायक ने कहा कि जनता की आकांक्षाओं पर खरा उतरने के लिए, राजनीतिक, संगठनात्मक और सामाजिक रूप से और ज्यादा सशक्त होने के लिए, निरंकुश मोदी सरकार पर अंकुश लगाने के लिए कांग्रेस पार्टी का आत्ममंथन और चिंतन जरूरी है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia