कोरोना के इलाज से बच भी गए तो दवा की कीमत से निकल जाएगी जान! 5 दिन की रेमडेसिविर दवा की कीमत है 1.76 लाख रुपये

कोरोना की दवा रेमडेसिवीर की एक शीशी की कीमत 390 डॉलर है। इस हिसाब से इलाज के लिए 5 दिन के पूरे कोर्स की कुल कीमत 2,340 डॉलर (करीब 1 लाख 76 हजार रुपये) होगी। बता दें कि एक मरीज के 5 दिन के कोर्स में रेमडेसिवीर की 6 शीशी का इस्तेमाल किया जाता है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

दुनिया भर में लोग कोरोना वायरस से परेशान है। लोग इस बिमारी से बचने के लिए दवा और टिके का इंतजार कर रहे हैं। लेकिन इस बीच कोरोना मरीजों पर अब दावा कंपनियों ने भी बोझ डालने की तैयारी कर ली है। दरअसल कोरोना की दवा रेमडेसिवीर की एक शीशी की कीमत 390 डॉलर है। इस हिसाब से इलाज के लिए 5 दिन के पूरे कोर्स की कुल कीमत 2,340 डॉलर (करीब 1 लाख 76 हजार रुपये) होगी। बता दें कि एक मरीज के 5 दिन के कोर्स में रेमडेसिवीर की 6 शीशी का इस्तेमाल किया जाता है। कुछ मामलों में यह 10 दिन या 11 शीशी का भी इस्तेमाल करना होता है।

सोमवार को गिलीड साइंसेज ने कहा है कि वो अमेरिकी सरकार और अन्य विकसित देशों से कोरोना वायरस ड्रग रेमडेसिवीर की एक शीशी के लिए 390 डॉलर चार्ज करेगी। गिलीड ने इस बारे में सोमवार को एक बयान जारी कर जानकारी दी।

गिलीड ने अगले तीन महीने तक रेमडेसिविर दवा का लगभग सारा स्टॉक अमेरिका भेजने की तैयारी में है। बता दे कि पिछले हफ्ते अमेरिकी संस्था इंस्टीट्यूट ऑफ क्लीनिकल एंड इकोनॉमिक रिव्यू ने दवा की कीमत 2520 से 2800 डॉलर के बीच रखने की सिफारिश की थी। गिलीड के चीफ एक्जीक्यूटिव डैनियल ओडे ने कीमत को लेकर कहा कि ज्यादा नहीं है। अगर मरीज सही समय पर अस्पताल से डिस्चार्ज होता है तो अमेरिका हर मरीज पर 12 हजार डॉलर यानी 9.06 लाख रुपए बचा लेगा।

रेमडेसिविर दवा की कीमत को लेकर टेक्सास में डेमोक्रेटिक सांसद लॉयड डॉगेट ने कहा कि दवा कंपनी बहुत ज्यादा कीमत ले रही है। यह आम नागरिकों की मेहनत से जमा किए टैक्स की नाजायज वसूली है।

गौरतलब है कि अमेरिका के एक अस्पताल में 62 दिनों तक कोरोना वायरस से जूझने वाले एक बुजुर्ग को 11 लाख डॉलर (लगभग आठ करोड़ रुपये) का चौंका देने वाला 181 पन्नों का बिल सौंपा गया था। कोविड-19 का इलाज कराने वाले माइकल फ्लोर 70 साल के हैं, जो वॉशिंगटन राज्य के किंग काउंटी के एक शहर इस्साक्वा में स्वीडिश मेडिकल सेंटर में सबसे लंबे समय तक अस्पताल में भर्ती रहे थे। जब उन्हें 181 पन्नों का लंबा-चौड़ा बिल थमाया गया तो उनके होश उड़ गए थे।

इसे भी पढ़ें: अस्पताल में 62 दिन इलाज के बाद कोरोना को दी मात, लेकिन 8 करोड़ का 181 पन्नों वाला बिल देखकर उड़ गए मरीज के होश

लोकप्रिय