उत्तराखंड: फर्जी RT-PCR रिपोर्ट के साथ पुलिस के हत्थे चढ़े 13 टूरिस्ट्स, 4 आरोपी गिरफ्तार

मंगलवार को 25 ऐसे यात्रियों को पकड़ा गया। जिनकी आरटी-पीसीआर रिपोर्ट फर्जी थी। सभी यात्रियों की आरटी-पीसीआर जांच करने के बाद ही उन्हें दून में प्रवेश दिया गया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तराखंड पुलिस ने क्लेमेंट टाउन में फर्जी आरटी-पीसीआर रिपोर्ट के साथ देवभूमि घूमने आए 13 पर्यटकों को पकड़ा है। जांच के बाद पुलिस ने चार लोगों को फर्जी दस्तावेज बनाने के आरोप में गिरफ्तार कर मामला दर्ज किया है। आपको बता दें, अब तक 100 फर्जी आरपीसीआर रिपोर्ट का पता चला है। वहीं मंगलवार को आशाोड़ी चेकपोस्ट पर मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 25 यात्रियों को फेक आरटी-पीसीआर रिपोर्ट के साथ पकड़ा था।

टीम ने सभी की आरटी-पीसीआर और एंटीजन जांच करवाई। इसके बाद सभी को चेतावनी दी गई की अगर ऐसा दोबारा हुआ तो उनके खिलाफ आपदा एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। आशारोड़ी चेकपोस्ट पर तैनात स्वास्थ्य विभाग की टीम के प्रभारी डॉ एक्यू अंसारी ने बताया कि सरकार की और से छूट दिए जाने के बाद बड़ी संख्या में यात्री उत्तराखंड की ओर आ रहे हैं। इसमें दिल्ली, हरियाणा, राज्स्थान से भारी संख्या में टूरिस्ट्स आ रहे हैं। ऐसे में कई यात्री ऐसे भी हैं जो फर्जी आरटी-पीसीआर रिपोर्ट लेकर आ रहे हैं।

डॉ। अंसारी ने बताया कि मंगलवार को 25 ऐसे यात्रियों को पकड़ा गया। जिनकी आरटी-पीसीआर रिपोर्ट फर्जी थी। सभी यात्रियों की आरटी-पीसीआर जांच करने के बाद ही उन्हें दून में प्रवेश दिया गया। नोडल अधिकारी के मुताबिक यात्रियों द्वारा दी गई रिपोर्ट के आधार पर पता चला है कि एक एसआरएफ आईडी पर कई लोगों को फर्जी रिपोर्ट जारी की गई है। वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार एक एसआरएफ आईडी पर सिर्फ एक ही व्यक्ति की रिपोर्ट दी जा सकती है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia