किसानों के भारत बंद के बीच केंद्रीय मंत्री ने दिया बातचीत का प्रस्ताव, राकेश टिकैत बोले- रट्टू हैं कृषि मंत्री

राकेश टिकैत ने कृषि मंत्री के बातचीत के जरिए रास्ता निकालने के बयान पर सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा कि कृषि मंत्री रट्टू हैं। टिकैत ने कहा कि अगर सरकार कानून में दस साल में सुधार करेगी तो ये आंदोलन 10 साल तक जारी रहेगा।

फोटो: Getty Images
फोटो: Getty Images
user

नवजीवन डेस्क

तीन केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन का नेतृत्व करने वाले 40 से अधिक किसान संघों के एक संगठन संयुक्त किसान मोर्चा ने आज भारत बंद का ऐलान किया है। आपको बता दें, बंद सुबह 6 बजे से शुरू हुआ जो शाम 4 बजे तक होगा। गाजीपुर बॉर्डर पर NH-9, NH-24 को किसानों ने जाम कर दिया है। किसान संगठन से जुड़े नेता यहां पर जम गए हैं। गाजीपुर बॉर्डर के अलावा किसानों ने शंभू बॉर्डर भी जाम कर दिया है।

इस दौरान किसान नेता राकेश टिकैत ने कृषि मंत्री के बातचीत के जरिए रास्ता निकालने के बयान पर सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा कि कृषि मंत्री रट्टू हैं। टिकैत ने कहा कि अगर सरकार कानून में दस साल में सुधार करेगी तो ये आंदोलन 10 साल तक जारी रहेगा। हम वापस नहीं जाएंगे। राकेश टिकैत ने कहा कि किसी के विचार को आप विचार से ही बदल सकते हो बंदूक की ताकत से आप विचार नहीं बदल सकते। कृषि मंत्री को लेकर उन्होंने कहा कि वो रट्टू हैं, जैसे बचपन में पढ़ाया गया था। जो पढ़ लिया उतना ही बोलेगा उससे ज्यादा बोलेगा ही नहीं। टिकैत ने कहा कि वो कहते हैं कि कानून वापसी नहीं लेंगे संशोधन पर बात करनी है, बात कर लो।

बता दें कि केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा है कि केंद्र सरकार किसानों की ओर से उठाए जाने वाले किसी भी मसले पर चर्चा के लिए तैयार है। तोमर ने बातचीत का रास्ता अपनाने की अपील की है। गौरतलब है कि किसानों को दिल्ली की सीमा पर धरना देते हुए 300 दिन से अधिक हो चुके हैं। किसान नेताओं और सरकार के प्रतिनिधियों के बीच 10 दौर की बातचीत भी हुई थी जो बेनतीजा रही थी। जनवरी महीने में किसानों और सरकार के बीच अंतिम दफे बातचीत हुई थी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia