मोदी सरकार के खिलाफ किसानों का आज भारत बंद, विपक्षी दल भी साथ, जानें क्या खुला रहेगा, क्या रहेगा बंद?

किसानों ने बताया कि बंद सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक रहेगा। इस दौरान सभी सरकारी और निजी दफ्तर, शिक्षण संस्थान, दुकान, मॉल, उद्योग और कारोबारी प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। वहीं आपात सेवाओं, अस्पतालों, दवा दुकानों, एंबुलेंस आदि इमरजेंसी सेवाओं पर कोई रोक नहीं रहेगी।

फाइल फोटोः पीटीआई
फाइल फोटोः पीटीआई
user

नवजीवन डेस्क

मोदी सरकार के विवादित कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन के दस महीने पूरे होने के बाद भी सरकार की तरफ से कोई कदम नहीं उठाए जाने से किसानों की नाराजगी चरम पर है और अब वे आर-पार की मूड में दिख रहे हैं। मोदी सरकार से सीधी लड़ाई का आगाज करते हुए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा ने आज भारत बंद का आह्वान किया है। संयुक्त किसान मोर्चा में शामिल 40 से अधिक संगठनों ने आम लोगों के साथ-साथ देश के राजनीतिक दलों से भी समर्थन मांगा है। भारत बंद के मद्देनजर दिल्ली समेत आसपास के कई राज्यों सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं।

आज के भारत बंद को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा ने बताया है कि यह बंद सोमवार को सुबह 6 बजे से लेकर शाम चार बजे तक रहेगा। इस दौरान सभी सरकारी और निजी दफ्तर, शिक्षण संस्थान, दुकानें, मॉल, उद्योग और व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। वहीं आपात सेवाओं सेवाओं, अस्पतालों, दवा की दुकानों, एंबुलेंस, राहत व बचाव कार्यों और निजी इमरजेंसी सेवाओं पर कोई रोक नहीं रहेगी।


किसानों के आज के भारत बंद को कई राजनीतिक दलों ने भी अपना समर्थन दिया है। कांग्रेस ने प्रेस कांफ्रेंस बुलाकर आज के बंद को पूर्ण समर्थन का ऐलान किया है। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने बंद को अपना समर्थन दिया है। बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी भारत बंद में शामिल होने की घोषणा की है। इसके अलावा सभी वाम दलों, बीएसपी, आम आदमी पार्टी, आंध्र प्रदेश सरकार, तृणमूल कांग्रेस, जेडीएस, तमिलनाडु में सत्ताधारी डीएमके किसानों के बंद को समर्थन का ऐलान किया है।

भारतीय किसान यूनियन के नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने लोगों से संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से घोषित भारत बंद को सफल बनाने के लिए अपील की है। उन्होंने अधिक से अधिक संख्या में किसानों से शांतिपूर्ण तरीके से बंद में भागीदारी का आह्वान किया है। उन्होंने बताया कि 27 सितंबर को सुबह छह से शाम चार बजे तक किसान सड़कों पर डटे रहेंगे और अपनी मांगों के समर्थन में शांतिपूर्ण प्रदर्शन करेंगे। उन्होंने कहा कि जब तक सरकार संयुक्त किसान मोर्चा की मांगे नहीं मानती तब तक किसान आंदोलन जारी रहेगा।


भारत बंद के मद्देनजर दिल्ली समेत आसपास के कई राज्यों में सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं। दिल्ली पुलिस के अधिकारी ने शनिवार को जानकारी देते हुए कहा कि भारत बंद के मद्देनजर एहतियातन राष्ट्रीय राजधानी की सीमाओं पर सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किये गए हैं। शहर की सीमाओं पर तीन जगह प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों में से किसी को दिल्ली में प्रवेश करने की इजाजत नहीं होगी। एक अन्य अधिकारी ने कहा कि किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए हमारी पुलिस तैयार है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में भारत बंद का कोई आह्वान नहीं है, लेकिन हम घटनाक्रम पर ध्यान रख रहे हैं और पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia