किसानों का प्रदर्शन: बॉर्डर सील, इंटरनेट बंद के खिलाफ HC में याचिका दायर, आज होगी सुनवाई

किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए सभी सीमाएं सील की गई है। मोबाइल इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी गई है। वहीं बॉर्डर सील और इंटरनेट बंद करने पर पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की गई है।

फोटो: विपिन
फोटो: विपिन
user

नवजीवन डेस्क

देशभर की विभिन्न किसान संगठनों का प्रतिनिधित्व करने वाले किसान नेताओं और केंद्र सरकार के बीच सोमवार देर रात हुई बैठक मामलों को सुलझाने में विफल रही। इसके बाद किसानों ने घोषणा की कि वे विरोध प्रदर्शन करने के लिए मंगलवार सुबह 10 बजे राष्ट्रीय राजधानी की ओर मार्च करने की अपनी योजना पर कायम हैं।

किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए सभी सीमाएं सील की गई है। मोबाइल इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी गई है। वहीं बॉर्डर सील और इंटरनेट बंद करने पर पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की गई है। याचिकाकर्ता उदय प्रताप सिंह ने आरोप लगाया कि ये मौलिक अधिकारों का उल्लंघन करता हैं और असंवैधानिक हैं। इस मामले पर आज सुनवाई होने की उम्मीद है।

उन्होंने तर्क दिया कि अंबाला, कुरूक्षेत्र, कैथल, जिंद, हिसार, फतेहाबाद और सिरसा में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं और बल्क एसएमएस को निलंबित करने सहित हरियाणा अधिकारियों की कार्रवाइयों ने स्थिति को और खराब कर दिया है, जिससे नागरिक सूचना के अधिकार से वंचित हो गए हैं।


बैरिकेड्स, बोल्डर, रेत से भरे टिप्पर और कंटीले तारों और लोहे की कीलें लगाकर पंजाब-हरियाणा सीमाओं को सील करने से भारी ट्रैफिक जाम के साथ वाहनों की आवाजाही पर असर पड़ा है। अप्रिय घटनाओं को रोकने के लिए अर्धसैनिक बलों को भी तैनात किया गया है।

किसानों ने पटियाला के शंभू बॉर्डर, संगरूर के मूनक, मुक्तसर के डबवाली और मनसा के रतिया बॉर्डर से हरियाणा में प्रवेश करने की योजना बनाई है। हरियाणा पुलिस ने चारों प्रवेश मार्गों को सील कर दिया है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;