यूपी में बीजेपी के हर कार्यक्रम का विरोध करेंगे किसान, नेताओं को दिखाए जाएंगे काले झंडे, राज्य स्तरीय समिति बनाई गई

किसानों ने ऐलान किया है कि वे उत्तर प्रदेश में बीजेपी के हर कार्यक्रम और हर नेता का विरोध करेंगे। बीजेपी नेताओं को शहर से लेकर गांव तक काले झंडे दिखाए जाएंगे। किसानों की यूपी समिति का ऐलान करते हुए कहा गया है कि किसान अपनी मुख्य मांगों के साथ स्थानीय मुद्दे भी उठाएंगे।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

किसानों ने ऐलान किया है कि वे उत्तर प्रदेश में बीजेपी के हर कार्यक्रम का विरोध करेंगे, जिले से लेकर गांव तक बीजेपी नेताओँ को काले झंडे दिखाए जाएंगे और उनके कार्यक्रम रोकने के लिए अभियान चलाया जाएगा। यह ऐलान लखनऊ में हुई किसानों की बैठक के बाद किया गया है। बैठक में उत्तर प्रदेश के लिए संयुक्त किसान मोर्चा की राज्य इकाई के गठन की भी घोषणा की गई है। इस इकाई में किसानों के कुल 85 संगठनों में से एक-एक सदस्य लेकर 85 सदस्यीय समिति भी बनाई गई है।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में दो दिन चली संयुक्त किसान मोर्चा निर्माण समिति की बैठक में ये सारे फैसले लिए गए। इन फैसलों की जानकारी के लिए लखनऊ प्रेस क्लब में ही प्रेस वार्ता में किसान नेता दर्शन पाल सिंह, हरिराम सिंह वर्मा आदि ने बताया कि राज्य स्तरीय समिति में तीन कोऑर्डिनेटर बनाए गए हैं जो सभी सदस्यों से समन्वय कर आगे की रूपरेखा पर विमर्श करेंगे।

उन्होंने बताया कि राज्य समिति की अब अब 17 सितंबर को बैठक होगी। इसमें 27 सितंबर को प्रस्तावित भारत बंद की तैयारियों पर विमर्श किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह समिति आगे जिला स्तरीय समितियों का गठन करेगी, जो गांव-गांव गली-गली जाकर अभियान चलाएगी। मिशन उत्तर प्रदेश के तहत यह समिति काम करेगी।

किसान नेताओं ने बताया कि आंदोलन की रूपरेखा मुख्य रूप से तीन बिंदुओं पर तय की जाएगी। इनमें कृषि कानूनों का विरोध, किसानों की मांगों को पूरा न करने वाली राजनीतिक पार्टी का विरोध, और टोल वसूली का विरोध करना मुख्य रहेगा। इसके अलावा स्थानीय मुद्दों को भी इस आंदोलन में जोड़ा जाएगा। समिति ने कहा कि इस आंदोलन को उत्तराखंड में भी इसी तरह जोर-शोर से चलाया जाएगा।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 11 Sep 2021, 7:00 AM