मध्य प्रदेश में BJP सांसद पर घोटाले में शामिल होने का आरोप, केस दर्ज, चौतरफा घिरी पार्टी ने किया तलब

रतलाम-झाबुआ से सांसद डामोर राजनीति में आने से पहले लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग में मुख्य अभियंता थे। इस दौरान फ्लोरोसिस नियंत्रण परियोजना में करोड़ों का घोटाला हुआ था। इस मामले में अलीराजपुर के न्यायिक मजिस्ट्रेट अमित जैन ने एफआईआर का आदेश दिया है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

मध्य प्रदेश के रतलाम-झाबुआ संसदीय क्षेत्र से सांसद गुमान सिंह डामोर पर घोटाले में शामिल होने के आरोप में कोर्ट के आदेश पर पुलिस द्वारा केस दर्ज करने के बाद बीजेपी बैकफुट पर आ गई है। चौतरफा पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने सांसद डामोर को तलब किया।जहां सांसद डामोर ने घोटाले के आरोपों को साजिश बताया है तो वहीं कांग्रेस और समाजवादी पार्टी बीजेपी पर हमलावर हैं।

रतलाम-झाबुआ से सांसद डामोर राजनीति में आने से पहले लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग में मुख्य अभियंता हुआ करते थे। इस दौरान फ्लोरोसिस नियंत्रण परियोजना में करोड़ों का घोटाला हुआ था। इस मामले में अलीराजपुर के न्यायिक मजिस्ट्रेट अमित जैन ने एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए थे जिस पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है।

पुलिस द्वारा सांसद के अलावा अलीराजपुर की तत्कालीन कलेक्टर गणेश शंकर मिश्रा पीएचईडी के कार्यपालन यंत्री सूर्यवंशी सुधीर कुमार सक्सेना सहित अन्य लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है। इस मामले में सभी आरोपियों को 17 जनवरी तक न्यायालय में पेश होने को कहा गया है।

इस मामले के बाद सियासी हलचल मची हुई है और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने सांसद डामोर को तलब किया। डामोर पार्टी कार्यालय से जब बाहर निकले तो उन्होंने मीडिया के तमाम सवालों का जवाब नहीं दिया और किसी तरह से मीडिया का घेरा तोड़कर बाहर निकलने में कामयाब हुए। बाद में डामोर ने कहा कि घोटाले का जो आरोप लगाया गया है वह बड़ा षड्यंत्र है, समय के साथ इस षड्यंत्र के प्रमाण सामने आएंगे, प्रकरण कोर्ट में चल रहा है। अलीराजपुर और झाबुआ में कोई घोटाला हुआ ही नहीं है।


बीजेपी सांसद पर 600 करोड़ के घोटाले के आरोप में न्यायालय के निर्देश पर प्रकरण दर्ज होने के बाद कांग्रेस और समाजवादी पार्टी हमलावर हो गई हैं। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने मीडिया के बीच फंसे सांसद डामोर का वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा कि, "600 करोड़ के भ्रष्टाचार के आरोपी भाजपा सांसद गुमान सिंह डामोर किस प्रकार मीडिया से भाग रहे हैं और सवालों का जवाब तक नहीं दे पा रहे हैं। शायद आज भाजपा कार्यालय में लगी वाशिंग मशीन में धुलकर ईमानदार होने आए थे, उनके इस भ्रष्टाचार पर पूरी भाजपा मौन क्यों, अभी तक इस्तीफा क्यों नहीं।"

वहीं समाजवादी पार्टी के यश भारतीय ने डामोर का वीडियो ट्वीट करते हुए कहा कि जनता की नजर में भ्रष्टाचार, भारतीय जनता पार्टी की नजर में शिष्टाचार भागता हुआ। 600 करोड़ के भ्रष्टाचार के मामले में कोर्ट द्वारा प्रकरण दर्ज करने के आदेश पर भाजपा सांसद मीडिया के सवालों से भागे, मीडिया से की धक्का-मुक्की, यह नजारा पार्टी के प्रदेश कार्यालय का है।


मिली जानकारी के अनुसार सांसद डामोर जब इंदौर में कार्यपालन यंत्री फ्लोरोसिस नियंत्रण परियोजना के पद पर पदस्थ थे तब यह घोटाला हुआ था। उन्होंने अलीराजपुर और झाबुआ क्षेत्र में फ्लोरोसिस कंट्रोल और पाइप लाइन मटेरियल खरीदी और अन्य कई परियोजनाओं के करोड़ों रुपए के बिल स्वयं पास किए थे। उन पर यह भी आरोप है कि आदिवासी क्षेत्रों में कोई फ्लोरोसिस नियंत्रण का काम नहीं किया गया। इसके अंतर्गत न तो हैंडपंप लगाए गए और न ही यूनिट की स्थापना की गई। इस मामले पर इंदौर के महू क्षेत्र के धर्मेंद्र शुक्ला ने आरोपियों के खिलाफ तमाम दस्तावेज कोर्ट में पेश किए थे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia