असम में बाढ़-बारिश से हालात भयावह, राहुल गांधी की कांग्रेस नेताओं-कार्यकर्ताओं से अपील, प्रभावित लोगों की करें मदद

असम में बाढ़ और बारिश से बुरा हाल है। बाढ़ से प्रदेश के 29 जिले प्रभावति हुए हैं। इन जिलों में 7 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। अब तक 9 लोगों की मौत हो चुकी है और कई लोग लापता हैं। प्रदेश में भारी बारिश का दौर जारी है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने राहुल गांधी ने असम में बाढ़ की स्थिति पर चिंता जताई है। साथ ही उन्होंने पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं से बढ़ा प्रभावित लोगों से मदद की अपील की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “असम में भीषण बाढ़ से लाखों लोग प्रभावित हुए हैं। मैं कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं से बचाव और राहत कार्यों में हर संभव सहायता प्रदान करने का आग्रह करता हूं।”

असम में बाढ़ और बारिश से बुरा हाल है। बाढ़ से प्रदेश के 29 जिले प्रभावति हुए हैं। इन जिलों में 7 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। अब तक 9 लोगों की मौत हो चुकी है और कई लोग लापता हैं। प्रदेश में भारी बारिश का दौर जारी है। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुतबिक, 1413 से ज्याद गांव पानी में डुब गए हैं। इनमें नगांव सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है, जहां 2.88 लाख लोग आपदा की चपेट में हैं। वहीं, कछार में करीब 1.2 लाख लोग, होजई में 1.07 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं।


असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अनुसार, प्रदेश में बाढ़ की स्थिति बेहद भयावह है। बाढ़ और भूस्खलन से लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। कुछ दिनों में प्रदेश के कुछ हिस्सों में भूस्खलन हुआ है। भयावह भूस्खलन और जलभराव ने पुलों, सड़कों और रेलवे पटरियों समेत अन्य बुनियादी ढांचे को भारी नुकसान पहुंचाया है।

वहीं, कछार जिला प्रशासन ने अगले 2 दिनों के लिए सरकारी और निजी और गैर-जरूरी निजी प्रतिष्ठानों समेत शैक्षणिक संस्थानों को बंद कर दिया है। जिला प्रशासन द्वारा जारी नोटिस के अनुसार, यह आदेश 19 मई की सुबह 6 बजे से लागू हुआ और अगले 48 घंटे तक लागू रहेगा।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia