खाद्य मंत्री पासवान ने खरीदा 420 रुपये किलो सेब, दुकानदार ने लगा दिया चूना, भड़के मंत्री जी ने दिया ये आदेश

सेब में मिलावट के बाद राम विलास पासवान ने इसकी जानकारी खाद्य मंत्रालय के अधिकारियों को दी। अधिकारियों ने तुरंत खान मार्केट के उस नामी दुकान पर छापा मारा। इस दौरान सभी फलों पर वैक्स लगा मिला। अधिकारियों ने दुकानदार का चालान काट दिया।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया

नवजीवन डेस्क

केंद्र की मोदी सरकार और खाद्य मंत्रालय मिलावटखोरों के खिलाफ कार्रवाई की बात करता रहता है। देश के सुदूर इलाके तो दूर राजधानी दिल्ली में मिलावटखोर चांदी काट रहे हैं, और सरकार को खबर तक नहीं है। खाद्य मंत्रालय को इस बात की खबर तब लगी जब खुद केंद्रीय खाद्य और उपभोक्ता मंत्री राम विलास पासवान मिलावट के शिकार हो गए।

बताया जा रहा है कि रविवार को राम विलास पासवान ने अनपे स्टाफ से रशियन सलाद खाने की इच्छा जताई थी। इसके बाद उनका स्टाफ दिल्ली के खान मार्केट गया और वहां से जरूरी सामान लेने के बाद एक नामी दुकान से सेब खरीदा और राम विलास पासवान के आवास पर पहुंचा।

खाद्य मंत्री पासवान ने खरीदा 420 रुपये किलो सेब, दुकानदार ने लगा दिया चूना, भड़के मंत्री जी ने दिया ये आदेश

राम विलास पासवान ने स्टाफ को फलों को ठीक से धोने की हिदायत दी। इसके बाद स्टाफ फलों को धोना शुरू किया, लेकिन सेब को ठकी से धुल नहीं पा रहा था। पानी से सेब धोने पर हाथ से फिसल रहा था। इसके बाद स्टाफ ने सेब को चाकू से खुरचा तो उस पर वैक्स लगा हुआ मिला। दरअसल सेब पर चमक लाने के लिए दुकानदार ने वैक्स लगा रखा था। स्टाफ ने इस बात की जानकारी खाद्य मंत्री राम विलास पासवान को दी। मंत्री जी ने जब सेब की कीमत पूछा तो वह कीमत जानकर हैरान रह गए। स्टाफ ने उन्हें बताया कि सेब 420 रुपये किलो उसने खरीदा है।

सेब में मिलावट के बाद राम विलास पासवान ने इस बात की जानकारी खाद्य मंत्रालय के अधिकारियों को दी। अधिकारियों ने तुरंत खान मार्केट के उस नामी दुकान पर छापा मारा। इस दौरान सभी फलों पर वैक्स लगा मिला। इसके बाद छापा मारने गई टीम ने दुकानदार का चालान काट दिया।

खाद्य मंत्री पासवान ने खरीदा 420 रुपये किलो सेब, दुकानदार ने लगा दिया चूना, भड़के मंत्री जी ने दिया ये आदेश

अधिकारियों को दुकानदार ने बाताया कि उसने सेब को आजादपुर मंडी से खरीदा था। उसने बताया कि शिकायत मिलने के बाद उसने दुकान से फल हटा दिया था। यहां गौर करने वाली बात यह है कि मिलावटखोरों के खिलाफ लगाम कसने की जिम्मेदारी भी राम विलास पासवान के विभाग की है। बावजूद इसके राजधानी दिल्ली के वीआईपी बाजार में मिलावटखोर धड़ल्ले से अपना कारोबार कर रहे हैं।

Published: 18 Sep 2019, 11:23 AM
लोकप्रिय