करनाल की घटना पर भड़के भूपेंद्र सिंह हुड्डा, कहा- खट्टर सरकार जांच करा देती तो दूध का दूध पानी का पानी हो जाता

हरियाणा में किसानों और सरकार के बीच तनाव को लेकर राज्य के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने खट्टर सरकार पर निशाना साधा है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

हरियाणा में किसानों और सरकार के बीच तनाव को लेकर राज्य के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने खट्टर सरकार पर निशाना साधा है। दरअसल करनाल में पिछले महीने पुलिस और किसान आंदोलनकारियों के बीच हुए टकराव के बाद किसान संगठनों की ओर से व्यापक प्रदर्शन हो रहे हैं। बड़ी संख्या में जुटे किसानों ने कल करनाल में किसान महापंचायत आयोजित की और मिनी सचिवालय का घेराव शुरू कर दिया। इसी को लेकर कांग्रेस नेता हुड्डा ने बीजेपी सरकार पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में जो कुछ भी हो रहा है, वो सरकार की कमी के कारण हो रहा है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार न्यायिक जांच करा देती तो टकराव की नौबत नहीं आती।

भूपेंद्र हुड्डा ने कहा कि, "अब जो कुछ हो रहा है...उसमें सरकार की कमी है। उन्होंने कहा कि, सरकार शुरू में ही न्यायिक जांच करा देती तो दूध का दूध पानी का पानी हो जाता। उन्होंने कहा कि, टकराव से काम नहीं चलेगा। वे प्रदर्शन करें, सभी का अधिकार है। सरकार भी टकराव की स्थिति न आने दे। उन्होंने कहा, मैं चाहता हूं कि सरकार किसानों से तुरंत बातचीत शुरू करे। किसानों की जो मांगें हैं, उन्हें पूरा करना सरकार की जिम्मेदारी है। केंद्र सरकार के कृषि कानूनों में कमियां हैं।"


बता दें कि नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संगठन कई महीनों से प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी क्रम में करनाल में प्रदर्शन कर रहे किसानों पर लाठी चार्ज किया गया था। किसान संगठन लाठी चार्ज करने वाले प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने और घायलों को जिला प्रशासन द्वारा मुआवजा देने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia