मोदी के पूर्व मंत्री बाबुल सुप्रियो ने थामा TMC का दामन, BJP से नाराज होकर राजनीति से सन्यास का किया था ऐलान

पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने आज टीएमसी की सदस्यता लेने के बाद कहा कि मुझे बहुत गर्व है कि मैं अपना फैसला बदल रहा हूं। मैं बंगाल की सेवा करने के महान अवसर के लिए वापस आ रहा हूं। मैं बहुत उत्साहित हूं। मैं सोमवार को सीएम ममता बनर्जी से मिलूंगा।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

मोदी सरकार के पूर्व मंत्री और बीजेपी के पश्चिम बंगाल से लोकसभा सांसद बाबुल सुप्रियो ने शनिवार को बीजेपी को बॉय-बॉय कर दिया और तृणमूल कांग्रेस की सदस्यता ले ली। बाबुल सुप्रियो ने शनिवार को बंगाल में टीएमसी के राष्ट्रीय महासचिव और सीएम ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी और पार्टी के राज्यसभा सांसद डेरेक ओ ब्रायन की मौजूदगी में टीएमसी का दामन थामा।

मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में हाल ही में हुए फेरबदल में बाबुल सुप्रियो को मंत्रिपद से हटा दिया गया था। मंत्रिपद से हटाए जाने के कुछ ही दिन बाद बाबुल ने राजनीति से सन्यास लेने का ऐलान कर दिया था। लेकिन बीजेपी के बड़े नेताओं को उसी समय से यह अंदाजा हो गया था कि बाबुल पार्टी छोड़ सकते हैं, इसलिए उन्हें मनाने की कोशिशें की गईं। लेकिन बीजेपी का रवैया देखते हुए आखिरकार आज बाबुल सुप्रियो ने इस अंदेशे को सही साबित करते हुए राजनीति से सन्यास लेने की बजाय बीजेपी को छोड़कर ममता के साथ जाने का फैसला ले लिया।


टीएमसी में शामिल होने के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने कहा कि मुझे बहुत गर्व है कि मैं अपना फैसला बदल रहा हूं। मैं बंगाल की सेवा करने के महान अवसर के लिए वापस आ रहा हूं। मैं बहुत उत्साहित हूं। मैं सोमवार को दीदी सीएम ममता बनर्जी से मिलूंगा। उन्होंने कहा कि दीदी और अभिषेक ने मुझे बहुत अच्छा मौका दिया है। चूंकि मैं टीएमसी में शामिल हो गया हूं, इसलिए आसनसोल में अपनी सीट पर बने रहने का कोई मतलब नहीं है। मैं आसनसोल की वजह से राजनीति में आया हूं। मैं उस निर्वाचन क्षेत्र के लिए यथासंभव प्रयास करूंगा।

पश्चिम बंगाल से दो बार लोकसभा का चुनाव जीते बाबुल सुप्रियो उन मंत्रियों की लिस्ट में शामिल थे, जिन्हें 7 जुलाई को एक बड़े फेरबदल के बाद पीएम मोदी की कैबिनेट से हटा दिया गया था। पिछले विधानसभा चुनाव में उन्होंने तृणमूल कांग्रेस के अरूप बिस्वास के खिलाफ विधानसभा चुनाव लड़ा था, जिसमें उन्हे हार का सामना करना पड़ा था।

बता दें कि शनिवार को ही यह खबर आई थी कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बाबुल सुप्रियो को मिले सुरक्षा कवर को जेड से घटाकर वाई श्रेणी का कर दिया है। जिसके बाद यह तय माना जा रहा था कि बाबुल बहुत जल्द बीजेपी को झटका दे सकते हैं। हालांकि, भवानीपुर उपचुनाव से ठीक पहले बाबुल का टीएमसी में जाना ममता बनर्जी का मास्टर स्ट्रोक माना जा रहा है, जो बीजेपी पर भारी पड़ सकता है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia