हरियाणा के गुरुग्राम में 4 मंजिला इमारत ढही, 5 से ज्यादा लोग दबे, मची चीख पुकार

गुरुग्राम के उलावास इलाके में आज सुबह 4 मंजिला इमारत गिर गई। बिल्डिंग के मलबे में 5 से ज्यादा लोग दबे हुए हैं। मलबे में दबे लोगों को निकालने के लिए लगातार कोशिशें जारी हैं। मौके पर आला अधिकारियों मौजूद है।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

हरियाणा के गुरुग्राम में एक बड़ा हदासा हुआ है। गुरूग्राम के उलावास इलाके में 4 मंजिला इमारत गिर गई। इस हादसे में 5 से ज्यादा लोग दबे होने की खबर हैं। हादसे के बाद एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई है और राहत और बचाव का काम जारी है।

मौके पर पहुंचे एसडीएम संजीव सिंगला ने कहा, “इस बिल्डिंग का निर्माणकार्य बीते 4 महीने से चल रहा था। इसके निर्माण में जहां टेक्निकल दक्षता का उपयोग नहीं किया गया वहीं बेहद ही घटिया सामग्री का भी इस्तेमाल किया जा रहा था। करीब 150 लोग राहत व बचाव कार्य में लगे हुए है।”

मौके पर मौजूद लोगों का कहना है कि इमारत में काम चल रहा था। मजदूर अपने काम में लगे हुए थी कि इमारत एकाएक गिर गई। इस हादसे के बाद मौके पर चीख पुकार मच गई। लोगों ने इस घटना को लेकर पीसीआर को जानकारी दी। मौके पर पुलिस के पहुंचने से पहले वहां मौजूद लोगों ने राहत बचाव का काम शुरू किया। बचाव कार्य में जुटे अधिकारियों का कहना है कि पूरा ध्यान पीड़ितों को बाहर निकलने में लगाया गया है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) की तीन टीमें गाजियाबाद और द्वारका बचाव कार्य में जुटी हुई हैं। माना जा रहा है कि मलबे में दबे हुए लोगों की संख्या 5 से अधिक हो सकती है।

गौरतलब है कि यह कोई पहला मामला नहीं हैं। बीते दो सालों में दिल्ली-एनसीआर के इलाकों में इमारतें ढहने की वारदातें बढ़ती जा रही हैं। कुछ समय पहले हुए ग्रेटर नोएडा के शाहबेरी इलाके के हादसे हुआ था। जिसमें 9 लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने 24 लोगों के खिलाफ गैरइरादतन हत्या समेत कई धाराओं के तहत मामला भी दर्ज किया था. साथ ही कई लोगों को गिरफ्तारी भी की गई थी। ऐसे में सवाल लगातार उठ रहे है कि अधिकारियों की लापरवाही और ठेकेदारों द्वारा बनाई जा रही कमजोर इमारतें की वजह कब तक लोग अपनी जान गंवाते रहेंगे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 24 Jan 2019, 11:01 AM