पेपर लीक मामले में गहलोत सरकार का एक्शन जारी, नकल माफिया भूपेंद्र के आलीशान बंगले पर चला बुलडोजर

पेपर लीक मामले में गहलोत सरकार ने 4 सरकारी कर्मचारियों को भी बर्खास्त कर दिया है। इनमें सिरोही जिले के सीनियर टीचर भागीरथ, जालोर के जसवंतराम स्कूल के सीनियर टीचर रावताराम, ठेलिया स्कूल के प्रिंसिपल सुरेश कुमार, चितलवाना झाब में तैनात सीनियर असिस्टेंट पुखराज शामिल हैं।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

राजस्थान के शिक्षक भर्ती परीक्षा में पेपर लीक कराने वाले भूपेंद्र सारण के आवास पर जेडीए ने शनिवार को एक बार फिर बुलडोजर चलाया है। जानकारी के मुताबिक भूपेंद्र ने बिल्डिंग बाइलॉज का उल्लंघन कर जयपुर के रजनी विहार में आलीशान कोठी बनाई है। इससे पहले शुक्रवार को ही पेपर लीक मामले में भूपेंद्र सारण और गोपाल सारण की पत्नी को जमानत मिली है। जमानत पर बाहर आने के बाद दोनों अपने परिजनों के साथ रजनी विहार पहुंच गए हैं। जहां जेडीए की कार्रवाई चल रही है।

बीते दिन यानी शुक्रवार को जयपुर विकास प्राधिकरण की टीम भूपेंद्र की कोठी गिराने के लिए पहुंची थी, लेकिन काफी देर हो जाने की वजह से कार्रवाई पूरी नहीं हो सकी। ऐसे में शनिवार को सुबह सुबह ही जेडीए का दस्ता एक बार फिर मौके पर पहुंचा। इस दस्ते ने बुलडोजर की मदद से इमारत को तहस नहस करने की कार्रवाई शुरू कर दी है।


बताया जा रहा है कि पेपर लीक मामले में भूपेंद्र सारण और गोपाल सारण की पत्नी को जमानत मिल गई है। जमानत के बाद जेल से छूटते ही दोनों आरोपी जेडीए की कार्रवाई देखने रजनी विहार पहुंचे हैं। उधर, पेपर लीक मामले में गहलोत सरकार ने 4 सरकारी कर्मचारियों को भी बर्खास्त कर दिया है। इनमें सिरोही जिले के सीनियर टीचर भागीरथ, जालोर के जसवंतराम स्कूल के सीनियर टीचर रावताराम, ठेलिया स्कूल के प्रिंसिपल सुरेश कुमार, चितलवाना झाब में तैनात सीनियर असिस्टेंट पुखराज शामिल हैं।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;