जनरल वीके सिंह ने यूपी के सीएम योगी को बताया देशद्रोही, ‘मोदी जी की सेना’ वाले बयान पर लिया आड़े हाथ

केंद्रीय मंत्री और गाजियाबाद से बीजेपी के उम्मीदवार जनरल वीके सिंह ने सीएम योगी के मोदी जी की सेना वाले बयान की आलोचना की है। वीके सिंह ने बीबीसी को दिए एक इंटरव्यू में कहा है कि अगर कोई भारत की सेना को मोदी जी की सेना कहता है तो वह गलत है और देशद्रोही भी है।

फोटो: Getty Image
फोटो: Getty Image
user

नवजीवन डेस्क

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के ‘मोदी जी की सेना’ वाले बयान पर बवाल जारी है। अब केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह ने इस बयान को लेकर उन्हें आड़े हाथों लिया है। उन्होंने इस बयान की आलोचना करते हुए सीएम योगी को देशद्रोही तक बता डाला। बता दें कि एक अप्रैल को गाजियाबाद में केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह के चुनाव प्रचार में भारतीय सेना को ‘मोदी जी की सेना’ कहा था।

भारतीय सेना को ‘मोदी जी की सेना’ कहना उचित है। इस सवाल पर बीबीसी के दिए इंटरव्यू में वीके सिंह ने कहा, “अगर कोई कहता है कि भारत की सेना मोदी की सेना है तो वो गलत भी है और देशद्रोही भी। भारत की सेना भारत की है, किसी पॉलिटिकल पार्टी की नहीं हैं।”

वीके सिंह ने बीबीसी के इंटरव्यू में आगे कहा, “ अगर भारत की सेना की बात करते हैं तो सिर्फ भारत की सेना की ही बात हो। मोदी जी की सेना या बीजेपी की सेना और भारत की सेना में काफी फर्क है।”

हालांकि इस सवाल के जवाब के दौरान उन्होंने सफाई देने की भी कोशिश की। उन्होंने कहा कि बीजेपी के प्रचार में सब लोग अपने आप को सेना भी बोलते हैं। लेकिन हम किस सेना की बात कर रहे हैं। इस ध्यान देना हो होगा। हमे चुनाव में देखना होगा कि क्या हम भारत की सेना की बात कर रहे हैं या पॉलिटकल वर्कर्स की।

चलिए बताते है कि पूरा विवाद कब और कहा का है। पूरा मामला एक अप्रैल का है। जहां गाजियाबाद में सीएम योगी अदित्यनाथ ने चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा था, “कांग्रेस के लोग आतंकवादियों को बिरयानी खिलाते हैं और ‘मोदी जी की सेना’ यानी भारतीय सेना आतंकवादियों को गोली और गोला देती है।” इस दौरान मंच पर वीके सिंह भी मौजूद थे।

योगी के इस बयान पर सैन्य अधिकारियों ने भी आपत्ति जताई थी। ऐडमिरल रामदास और नॉर्दन कमांड के हेड रहे जनरल हुड्डा ने कहा था कि सेना का राजनीतिकरण किया जा रहा है। इसके अलावा चुनाव आयोग ने भी सीएम योगी इस बयान पर गाजियाबाद के डीएम से रिपोर्ट मांगी थी। चुनाव आयोग ने मीडिया रिपोर्ट का संज्ञान लेते हुए रिपोर्ट तलब की थी।

Published: 4 Apr 2019, 1:29 PM
लोकप्रिय
next