गोवा के मुख्यमंत्री के खिलाफ हत्या का केस दर्ज करने की मांग, ऑक्सीजन की कमी से मौतों पर कांग्रेस ने दी शिकायत

कांग्रेस नेता गिरीश चोडनकर द्वारा अगाकैम पुलिस स्टेशन में दर्ज शिकायत में कहा गया है कि यह शिकायत सभी गोवावासियों के दर्द और पीड़ा को दशार्ती है। वर्तमान सरकार द्वारा कोरोना से निपटने में स्पष्ट तौर पर अक्षमता, आपराधिक लापरवाही, कुप्रबंधन देखने को मिला है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

गोवा प्रदेश कांग्रेस ने सोमवार को राज्य के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत और स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है, जिसमें दावा किया गया कि उनकी अक्षमता, कुप्रबंधन और लापरवाही के कारण ऑक्सीजन की कमी के चलते सैकड़ों कोरोना रोगियों की मौत हो गई। शिकायत में दोनों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज करने की मांग की गई है।

राज्य कांग्रेस प्रमुख गिरीश चोडनकर द्वारा अगाकैम पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई गई शिकायत में कहा गया है कि यह शिकायत सभी गोवावासियों के दर्द और पीड़ा को दशार्ती है। वर्तमान राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 से निपटने में स्पष्ट तौर पर अक्षमता, आपराधिक लापरवाही, कुप्रबंधन देखने को मिला है।

शिकायत में कहा गया है कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर के हमले के बाद से यानी अप्रैल 2021 के बाद से, गोवा मेडिकल कॉलेज (जीएमसी) में मेडिकल ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति बनाए रखने में सरकार की कमी या विफलता के कारण सैकड़ों लोग मारे गए हैं। स्वास्थ्य मंत्री राणे ने 11 मई को कहा था कि अस्पताल में भर्ती 26 मरीजों की मौत ऑक्सीजन की कमी के कारण हुई। वहीं इसके कुछ दिनों बाद, गोवा मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. शिवानंद बांदेकर ने दावा किया कि मौतों को ऑक्सीजन की कमी से जोड़ना संभव नहीं है।

बता दें कि ऑक्सीजन की कमी के कारण 11 मई से लेकर लगातार चार दिनों में ही अस्पताल में कुल 75 मरीजों की मौत दर्ज की गई है। यहां तक कि बंबई हाईकोर्ट की पणजी बेंच को भी ऑक्सीजन आपूर्ति प्रक्रिया को सुव्यवस्थित करने का प्रयास करने के लिए सरकार और अधिकारियों को फटकार लगाने पर मजबूर होना पड़ा है।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia