गोवाः अश्लील मैसेज पर घिरे बीजेपी सरकार के डिप्टी सीएम, तेज हुई इस्तीफे की मांग

कांग्रेस ने इस मामले में चंद्रकांत कावलेकर के इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि अगर बीजेपी ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ सिद्धांत को मानती है, तो मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत को डिप्टी सीएम को तत्काल बर्खास्त करना चाहिए और निष्पक्ष पुलिस जांच शुरू करनी चाहिए।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

आसिफ एस खान

गोवा के उपमुख्यमंत्री चंद्रकांत कावलेकर के फोन से एक व्हाट्सएप ग्रुप में कथित तौर पर भेजी गई अश्लील वीडियो को लेकर प्रदेश की राजनीति गर्मा गई है। कांग्रेस समेत गोवा के विपक्षी दलों ने अश्लील व्हाट्सएप मैसेज विवाद पर उपमुख्यमंत्री कावलेकर से इस्तीफा देने की मांग की है।वहीं सत्तारूढ़ बीजेपी ने उनका बचाव करते हुए कहा कि पार्टी महिलाओं का सम्मान करती है और यह कावलेकर को बदनाम करने की कोशिश है।

इस मामले के तूल पकड़ते ही राज्य के उपमुख्यमंत्री चंद्रकांत कावलेकर ने सोमवार को गोवा पुलिस के साइबर सेल में एक आपराधिक शिकायत दर्ज कराई है, जिसमें कहा गया था कि अज्ञात व्यक्तियों ने रविवार देर रात उनके स्मार्टफोन को हैक कर लिया और एक व्हाट्सएप ग्रुप में एक अश्लील संदेश भेजा गया। यह अश्लील संदेश कावेलकर के फोन से 'विलेजिस ऑफ गोवा' नामक व्हाट्सएप ग्रुप पर भेजा गया था।

हालांकि, कावेलकर के इस कदम के बाद भी उनके इस्तीफे की मांग तेज हो गई है। कांग्रेस की गोवा सोशल मीडिया सेल की प्रमुख प्रतिभा बोरकर ने कहा, "अगर बीजेपी 'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ' सिद्धांत को मानती है, तो मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत को कावलेकर को तत्काल बर्खास्त कर देना चाहिए और निष्पक्ष पुलिस जांच शुरू करनी चाहिए।" बोरकर ने भी गोवा पुलिस से शिकायत दर्ज कर संदेश की जांच करने की मांग की है। शिकायत में आरोप लगाया गया है कि संदेश कावेलकर ने 'विलेजिस ऑफ गोवा' नामक व्हाट्सएप ग्रुप पर भेजा है।

हालांकि, बीजेपी कावलेकर के बचाव में आ गई है, जो पिछले साल जुलाई में कांग्रेस से भगवा पार्टी में शामिल हुए थे। गोवा भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष सदानंद शेट तनावडे ने मंगलवार को कहा, "मंत्री ने मुझे उनकी शिकायत की एक प्रति भेजी है। उनकी आपराधिक शिकायत कहती है कि उनका मोबाइल फोन हैक हो गया है। उन्होंने अपराध शाखा में शिकायत दर्ज की है। पुलिस की जांच के बाद सच्चाई सामने आएगी।"

गोवा बीजेपी अध्यक्ष ने कावलेकर का बचाव करते हुए कहा कि नई विकसित तकनीक है, जिसके साथ मोबाइल फोन हैक करके कोई भी कुछ भी कर सकता है। बीजेपी ने हमेशा महिलाओं का सम्मान किया है। हमारे संगठन में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत आरक्षण है। हालांकि बीजेपी की इन कोशिशों के बावजूद सोशल मिडिया पर प्रमोद सावंत की सरकार लोगों के निशाने पर है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia