केदारनाथ धाम जाने वाले यात्रियों के लिए अच्छी खबर! आज से हेली सेवा शुरू, यात्रा पर जाने से पहले जान लें ये नियम

हेलीपैड का निरीक्षण करने के बाद डीजीसीए ने हेली सेवा संचालित करने की अनुमति दी। हेली सेवा के लिए टिकटों की बुकिंग भी वेबसाइट पर होने लगी है। अगर आप हेली सेवा से केदारनाथ धाम जा रहे हैं तब भी आपको कोविड प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन करना होगा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तराखंड के केदारनाथ धाम दर्शन के लिए जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए अच्छी खबर है। आज (शुक्रवार) से यहां के लिए हवाई सेवा भी शुरू कर दी गई है। हेली सेवा शुरू करने के लिए अभी तक डीजीसीए से परमिशन नहीं मिली थी, लेकिन अब डीजीसीए ने इजाजत दे दी है। उत्तराखंड नागरिक उड्डयन विकास प्राधिकरण (यूकाडा) ने सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। ताकि यात्रियों को बेहतर सुविधा दी जा सके और उन्हें केदारनाथ धाम तक सुरक्षित पहुंचाया जा सके।

हेलीपैड का निरीक्षण करने के बाद डीजीसीए ने हेली सेवा संचालित करने की अनुमति दी। हेली सेवा के लिए टिकटों की बुकिंग भी वेबसाइट पर होने लगी है। अगर आप हेली सेवा से केदारनाथ धाम जा रहे हैं तब भी आपको कोविड प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन करना होगा।


वहीं, देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रविनाथ रमन ने बताया कि हेली सेवा से केदारनाथ धाम जाने वाले यात्रियों को पंजीकरण कर ई-पास जारी किए जाएंगे। कलेक्टर ने आदेश दिए हैं कि अगर कोई यात्री तय समय पर नहीं पहुंचा तो उसकी जगह किसी और पंजीकृत यात्री को पास जारी कर दिया जाएगा।

कलेक्टर ने बताया कि सड़क के रास्ते से कोई भी श्रद्धालु बिना ई-पास के केदारनाथ नहीं जा सकता। उसे जाने नहीं दिया जाएगा। देवस्थानम बोर्ड के पोर्टल से ई-पास जारी किए जा रहे हैं। ऐसे में यात्री किसी भी दलाल या भ्रमित करने वाले लोगों के झांसे में न आएं। कलेक्टर ने कहा कि आगामी 15 अक्तूबर तक देवस्थानम बोर्ड का ई-पास पोर्टल पर बुकिंग फुल है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia