यूपी चुनाव के बीच योगी सरकार का बड़ा फैसला! नाइट कर्फ्यू हटाने का ऐलान, कोरोना के घटते मामलों के चलते लिया फैसला

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बीच यूपी सरकार ने फैसला किया है कि आज रात से नाइट कर्फ्यू को हटा लिया जाएगा

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रदेश के सभी जिलों में अब रात का कर्फ्यू भी पूरी तरह से समाप्त कर दिया गया है। इस बारे में शनिवार को अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी की ओर से आदेश जारी किए गए हैं।

अभी तक रात के 11 बजे से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू जारी था। जिससे दुकानें और रेस्टोरेंट 11 बजे तक बंद हो जाते थे। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार कम होते जा रहे हैं जिसे देखते हुए प्रशासन ने निर्णय लिया है।

इससे पहले कोविड प्रोटोकाल के अनुपालन की शर्त के अनुसार रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक लागू करने के आदेश थे। यूपी में नाइट कर्फ्यू खत्म करने के साथ ही सावधानी बरतने के भी आदेश जारी किए गए हैं।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी द्वारा प्रदेश के सभी मण्डलायुक्त, एडीजी, आइजी, डीआइजी, पुलिस आयुक्त लखनऊ, गौतमबुद्धनगर, कानपुर और वाराणसी को रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू समाप्त करने का आदेश जारी कर दिया गया है। प्रदेश में संक्रमण तेजी से कम हो रहा है। हालांकि, अभी पूरी तरह से समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए सतर्कता एवं सावधानी बरतना बहुत जरूरी है। इसके ²ष्टिगत अवस्थी ने कोरोना संक्रमण से बचाव और उपचार की व्यवस्थाओं को निरन्तर सु²ढ़ बनाए रखे जाने के निर्देश दिए हैं। हालांकि, घर से बाहर निकलने पर मास्क की अनिवार्यता हो या फिर भीड़-भाड़ वाली जगहों से परहेज, लोगों को इन बातों का अभी ध्यान रखना होगा।

लखनऊ में रोजाना मिलने वाले नए संक्रमितों की संख्या 100 के करीब पहुंच गई है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग ने रैपिड रिस्पांस टीम की संख्या में 50 प्रतिशत तक की कटौती का फैसला किया है। अफसरों का कहना है कोरोना के मरीज बढ़ने पर स्वास्थ्य विभाग रोजाना 15 से 20 हजार से अधिक लोगों की रोजाना जांच कर रहा था। इसके लिए डीएम के निर्देश पर आरआरटी टीम की संख्या बढ़ाकर 206 कर दी थी। अब संक्रमण का ग्राफ कम होने पर टीमों में कटौती करने के लिए डीएम को पत्र भेजा गया है। वहां से मुहर लगने के बाद टीम की संख्या 100 से नीचे कर दी जाएगी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia