दिशा रवि के समर्थन में उतरीं ग्रेटा थनबर्ग, कहा- शांतिपूर्ण प्रदर्शन मानवाधिकार का हिस्सा

भारत में चल रहे किसानों के आंदोलन का समर्थन कर हाल में चर्चा में आईं क्लाइमेट एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग ने दिशा रवि का समर्थन करते हुए कहा है कि शांतिपूर्ण प्रदर्शन और अभिव्यक्ति की आजादी लोकतंत्र का मूल हिस्सा है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

टूलकिट मामले में गिरफ्तार क्लाइमेट एक्टिविस्ट दिशा रवि को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने आज तीन दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। इस बीच दुनिया की चर्चित जलवायु कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग ने दिशा रवि के समर्थन में ट्विट किया है। थनबर्ग ने कहा है कि अभिव्यक्ति की आजादी और शांतिपूर्ण प्रदर्शन पूरी तरह से मानवाधिकारों में आते हैं। इन्हें किसी भी लोकतंत्र का एक प्रमुख हिस्सा होना चाहिए।

स्वीडन की रहने वाली एक्टिविस्ट ग्रेटा ने #StandWithDishaRavi हैशटैग का इस्तेमाल करते हुए फ्राइडेज फॉर फ्यूचर के एक ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया में यह बात लिखी है। थनबर्ग ने अगस्त 2018 में फ्राइडेज फॉर फ्यूचर नामक संगठन की स्थापना की थी, जब वह महज 15 साल की थीं।

बता दें कि कुछ दिन पहले ग्रेटा थनबर्ग ने भारत में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में एक ट्वीट किया था। इस ट्वीट में उन्होंने एक टूलकिट साझा किया था, जिसमें किसान आंदोलन को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहुंचाने की बात कही गई थी। इस मामले में दिल्ली पुलिस ने देशद्रोह का मामला दर्ज करते हुए बंगलूरू की जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि को गिरफ्तार किया है। दिशा पर आरोप है कि उन्होंने किसान आंदोलन को पूरी दुनिया में फैलाने के लिए टूलकिट कई बार संपादित की और फिर ग्रेटा थनबर्ग को भेजी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next