पीएम मोदी के गुजरात में ‘देशभक्ति’ का फरमान, स्कूली बच्चों को हाजिरी के दौरान बोलना होगा ‘जय हिंद या ‘जय भारत’

नए साल के मौके पर गुजरात सरकार ने एक नया फरमान जारी किया है। जिसके तहत अब स्कूली छात्रों को स्कूल में हाजिरी के समय ‘जय हिंद’ या ‘जय भारत’ बोलना होगा।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

गुजरात में बीजेपी सरकार ने स्कूली बच्चों में देशभक्ति की भावना विकसित करने के लिए नया फरमान जारी किया है। इस नए फरमान के मुताबिक, नए साल के पहले दिन से स्कूलों में बच्चों को हाजिरी के दौरान ‘यस सर’ या फिर ‘प्रेजेंट सर’ के बदले ‘जय हिंद या ‘जय भारत’ बोलना होगा। इसका आदेश सोमवार को गुजरात सरकार द्वारा जारी किया गया है।

गुजरात के शिक्षा विभाग, गुजरात माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के संयुक्त निदेशक बीएस राजगोर ने राज्य के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि सभी सरकारी, अनुदानित और निजी स्कूलों में पहली कक्षा से लेकर 12वीं कक्षा तक कक्षाओं में हाजिरी के दौरान छात्रों से ‘जय हिंद’ या ‘जय भारत’ कहलवाया जाए। बताया जा रहा है कि फैसले की कॉपी जिला शिक्षा अधिकारियों को सौंप दी गई है। इसमें निर्देश हैं कि 1 जनवरी यानी आज से इस नियम को सभी स्कूलों में लागू किया जाए।

गुजरात सरकार के शिक्षा मंत्री भूपेन्द्र सिंह चुडासमा का कहना है कि छात्रों में देशभक्ति की भावना लाने के लिये ये एक श्रेष्ठ रास्ता है। बीजेपी सरकार का मानना है कि ऐसा करने से स्कूल के बच्चों में देशभक्ति की भावना बढ़ेगी। अभी के संबोधनों से बच्चों पर सकारात्मक बदलाव देखने को नहीं मिल रहा है।

Published: 1 Jan 2019, 2:01 PM
लोकप्रिय
next