डेंगू से ठीक हो रहे पूर्व PM मनमोहन सिंह, पत्नी गुरशरण कौर ने एम्स के डाक्टरों और स्टाफ को कहा धन्यवाद

गुरशरण कौर ने लिखा, मुझे और मेरे परिवार को यह सूचित करते हुए खुशी हो रही है कि डॉ मनमोहन सिंह अस्पताल से घर आ गए हैं और डेंगू बुखार से उबर रहे हैं। इस अवसर पर, हम एम्स के सभी डॉक्टरों, नर्सों और सहयोगी स्टाफ और कई शुभचिंतकों को उनके शीघ्र स्वस्थ होने के लिए पूरे दिल से धन्यवाद देना चाहते हैं।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

आईएएनएस

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की पत्नी गुरशरण कौर ने दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के डॉक्टरों और शुभचिंतकों को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद दिया है। पूर्व प्रधानमंत्री को डेंगू और बुखार से स्वस्थ होने के बाद रविवार को दिल्ली के एम्स छुट्टी दे दी गई थी। प्रधानमंत्री सिंह 19 दिनों तक एम्स में भर्ती रहे।

गुरशरण कौर ने अपने धन्यवाद में लिखा, मुझे और मेरे परिवार को यह सूचित करते हुए खुशी हो रही है कि डॉ मनमोहन सिंह अस्पताल से घर आ गए हैं और डेंगू बुखार से उबर रहे हैं। इस अवसर पर, हम एम्स के सभी डॉक्टरों, नर्सों और सहयोगी स्टाफ और कई शुभचिंतकों को उनके शीघ्र स्वस्थ होने के लिए पूरे दिल से समर्थन और कड़ी मेहनत के लिए अपना विशेष धन्यवाद देना चाहते हैं।

डॉ मनमोहन सिंह को बुखार से ग्रसित होने के बाद एम्स में भर्ती कराया गया था। यहां वरिष्ठ डॉक्टरों की एक टीम लगातार उनका चेकअप और निगरानी कर रही थी। डॉक्टरों की इस टीम के मुताबिक पूर्व प्रधानमंत्री अब पूरी तरह से स्वस्थ है।

पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह 13 अक्टूबर बुधवार शाम 6 बजे स्वास्थ्य में गिरावट आने के बाद एम्स पहुंचे थे। एम्स के कार्डियो टावर में डॉक्टर नीतीश नायक की देखरेख में मनमोहन सिंह का चेकअप किया गया। पूर्व प्रधानमंत्री को पिछले दो दिन से हल्का बुखार था। जिसके बाद वह अस्पताल पहुंचे थे।

इससे पहले 2009 में, मनमोहन सिंह की दिल्ली के एम्स में ही एक कोरोनरी बाईपास सर्जरी हो चुकी है। इस सर्जरी के बाद डॉक्टर के निदेर्शानुसार मनमोहन सिंह सामान्य जांच के लिए अस्पताल जाते रहते हैं।

गौरतलब है कि डॉक्टर मनमोहन सिंह अप्रैल महीने में कोरोना संक्रमित भी हो गए थे। इसके बाद भी उन्हें एम्स के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया था। डॉक्टर मनमोहन सिंह संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) सरकार के दौरान दो बार प्रधानमंत्री रह चुके हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia