कोरोना से स्वर्ण मंदिर के पूर्व हजूरी रागी ज्ञानी निर्मल सिंह का निधन, विदेश से लौटकर की थी कई जगहों पर कीर्तन

स्वर्ण मंदिर में पूर्व हजूरी रागी ज्ञानी निर्मल सिंह का आज तड़के निधन हो गया। ज्ञानी निर्मल सिंह कोरोना वायरस से संक्रमित थे। बुधवार को कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद से वह वेंटिलेटर पर थे।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश भर में कोरोना वायरस का कहर जारी है। पिछले 12 घंटे में देश में कोरोना संक्रमण के नए 131 मामले सामने आए हैं। देश में अब तक कोरोना मरीजों का आंकड़ा बढ़कर 1965 पहुंच गया है। इसमें से 151 लोग ठीक हो चुके हैं यानी ऐक्टिव केस 1764 हैं। अब तक 50 लोगों की कोरोना की वजह से जान जा चुकी है। वहीं आज पद्मश्री से सम्मानित स्वर्ण मंदिर के पूर्व हजूरी रागी ज्ञानी निर्मल सिंह का निधन हो गया। पिछले कुछ दिनों से तबीयत खराब होने के बाद बुधवार को उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी। इसके बाद से ही वह वेंटिलेटर पर थे।

एक स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि ‘गुरबाणी’ के सभी रागों का ज्ञान रखने वाले 62 वर्षीय पूर्व ‘हजूरी रागी’ हाल ही में विदेश से लौटे थे और बुधवार को वह कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे। सरकारी मेडिकल कॉलेज की प्रिंसिपल डॉक्टर सुजाता शर्मा ने बताया, “उनकी हालत बुधवार शाम को बिगड़नी शुरू हो गई थी और उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया था। गुरुवार को सुबह साढ़े चार बजे उनका निधन हो गया। शर्मा ने बताया कि उन्हें 30 मार्च को सांस लेने में दिक्कत और चक्कर आने की शिकायत के बाद यहां गुरु नानक देव अस्पताल में भर्ती कराया गया था।”


कोरोना वायरस के लक्षण आने के बाद स्थानीय पुलिस ने संक्रमण के फैलने से रोकने के लिए निर्मल सिंह के आवास के आसपास के क्षेत्र को सील कर दिया है। वहीं अधिकारियों ने बताया कि उनकी दो बेटियों, बेटे, पत्नी, ड्राइवर और उनके साथ चंडीगढ़ गए छह अन्य लोगों के नमूने भी जांच के लिए भेजे जाएंगे। बता दें कि निर्मल सिंह ने विदेश से लौटने के बाद दिल्ली और कुछ अन्य स्थानों पर सम्मेलनों और धार्मिक सभाओं का आयोजन भी किया था। निर्मल सिंह ने अपने परिवार के सदस्यों और अन्य रिश्तेदारों के साथ 19 मार्च को चंडीगढ़ के एक घर में भी कीर्तन भी किया था।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 02 Apr 2020, 11:01 AM