हल्द्वानी हिंसा: 5000 मोबाइल नंबर पुलिस के रडार पर, संदिग्धों की तलाश में जुटी पुलिस

पुलिस अब वनभूलपुरा में हुई हिंसा के मामले में मोबाइल नेटवर्क ट्रेसिंग की मदद से हिंसा फैलाने वाले संदिग्धों की तलाश कर रही है। पुलिस की जांच में लगभग 5000 हजार मोबाइल नंबर संदेह के घेरे में है।

फोटो: IANS
फोटो: IANS
user

नवजीवन डेस्क

हल्द्वानी में हुई हिंसा के बाद पुलिस की कार्यवाही और तेज़ हो गई है। पुलिस ने गिरफ्तार किए गए 25 उपद्रवियों को गिरफ्तार सेशन कोर्ट में पेश किया। जहां से सभी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। इन सभी पर दंगा भड़काने, पुलिस थाने में आग लगाने, पुलिस पर फायरिंग, थाने में घुसकर हथियार लूट के आरोप हैं।

वहीं दूसरी तरफ वनभूलपुरा हिंसा मामले में गिरफ्तार मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक से अब प्रशासन इस हिंसा में हुए नुकसान की भरपाई करने वाला है। इस हिंसा में 6 करोड़ का नुकसान हुआ है जिसकी भरपाई अब अब्दुल मलिक से की जाएगी। इसके लिए अब नगर निगम ने अब्दुल मलिक को नोटिस जारी किया है। नोटिस में 2 करोड़ 55 लाख 52 हजार 500 रुपए का वसूली का जिक्र है।

इसके अलावा पुलिस अब वनभूलपुरा में हुई हिंसा के मामले में मोबाइल नेटवर्क ट्रेसिंग की मदद से हिंसा फैलाने वाले संदिग्धों की तलाश कर रही है। पुलिस की जांच में लगभग 5000 हजार मोबाइल नंबर संदेह के घेरे में है।

पकड़े गए उपद्रवियों और नामजद लोगों की कॉल डिटेल व व्हाट्सएप डिटेल खंगाली जा रही है। हिंसा वाले दिन क्षेत्र में कितने और कौन-कौन से मोबाइल नंबर सक्रिय थे, इसकी भी जांच की जा रही है।

यहां तक कि उन नंबरों से कहां और किन राज्यों में फोन कॉल किए गए, इसका भी पता लगाया जा रहा है।

सूत्रों के मुताबिक कई लोग ऐसे हैं जिनकी लोकेशन उपद्रव के बाद बनभूलपुरा से बाहर की मिली है। पुलिस ने अब तक गिरफ्तार हुए 25 आरोपियों के मोबाइल रिकॉर्ड भी खंगालने शुरू कर दिए हैं। एसएसपी प्रहलाद नारायण मीणा ने बताया कि तकनीक की मदद से जांच की जा रही है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;