हरीश रावत बोले- BJP ने उत्तराखंड को बना दिया अवैध खनन का हब, चरमरा गया शिक्षा-स्वास्थ्य का ढांचा

उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत से नवजीवन ने खास बातचीत की। रावत ने इस दौरान उन सभी मुद्दों पर अपनी बात रखी जो इस समय राज्य की जनता उठा रही है। पलायन से लेकर भू कानून तक हरीश रावत ने सरकार आने पर इन वादों को पूरा करने की बात कही।

नवजीवन
नवजीवन
user

पवन नौटियाल @pawanautiyal

सवाल- उत्तराखंड में कांग्रेस की तैयारी कैसी चल रही है, खास कर रामनगर में जनता का कितना प्यारा मिल रहा है?

जवाब- मैंने रामनगर से ही राजनीति सीखी है। मुझे वहां की जनता की सेवा करने का पार्टी ने मौका दिया है। मैं रामनगर की जनता का धन्यवाद करना चाहूंगा। मैंने जो अनुभव अर्जित किया है उसका उपयोग में रामनगर को डेवलप करने में करना चाहूंगा।

सवाल- क्या रामनगर सीट को लेकर रावत बनाम रावत की लड़ाई है?

जवाब- नहीं ऐसा नहीं है मुझे पूरी उम्मीद है कि सारे रावत साथ चलेंगे, एक साथ चलेंगे। कांग्रेस के अंदर जो लोग हैं वो साथी हैं। पार्टी ने मुझे आदेश किया है मैं रामनगर का संकल्प लेकर वहां जा रहा हूं।

सवाल- कांग्रेस की थीम सॉन्ग 4 धाम 4 काम का संकल्प को लेकर क्या कहेंगे?

जवाब- इन 5 सालों में बीजेपी ने कुछ नहीं किया जिसका नतीजा ये है कि राज्य में सबसे ज्यादा बेरोजगारी है। जब उत्पादन नहीं होगा, निर्माण कार्य नहीं होगा, तो रोजगार कहां से सृजित होंगे? इसके अलावा राज्य में महंगाई भी चरम पर है, यही वजह है कि हमने नारा दिया कि "लाओ कांग्रेस की सरकार, गैस सिलेंडर नहीं होंगे 500 के पार" हम 4 लाख युवाओं को रोजगार देंगे। इसके अलावा उत्तराखंड में शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाएं चौपट हो गई है। हम इसे सुधारने की कोशिश करेंगे।

सवाल- बीजेपी की पहली लिस्ट पर कांग्रेस कहती है कि हमने आधी लड़ाई जीत ली है?

जवाब- ये चुनाव उत्तराखंड की जनता बनाम बीजेपी है। जनता ने ये कल्पना भी नहीं की थी कि 5 सालों में डबल इंजन की सरकार ठप पड़ जाएगी। इस सरकार ने पुरानी सारी लोक कल्याण की योजनाओं को बंद कर दिया जो जनता से जुड़ी थी, किसानों से जुड़ी थी। बीजेपी के इस कदम से जनता त्रस्त है। इसलिए जनता बदलाव चाहती है। ऐसा पहली बार हुआ होगा जब कुंभ में भी घोटाला हुआ हो। उत्तराखंड की जनता ने परिवर्तन का मन बना लिया है, इस लड़ाई में हम माध्यम हैं परिवर्तन का।

सवाल- बीजेपी के सीएम चेहरे बदलने से कांग्रेस को फायदा हुआ?

जवाब- बिल्कुल हमें फायदा होगा, क्योंकि जनता अपमानित महसूस कर रही है। बीजेपी ने अपमान किया है। बीजेपी ने खुद माना है कि सीएम बदलकर भी वो कुछ नहीं कर पाए।

सवाल- त्रिवेंद्र रावत के चुनाव ना लड़ने को कैसे देखते हैं?

जवाब- ये उनका अपना फैसला है। वो कह रहे हैं कि मुझे चुनाव लड़ने लायक नहीं समझा तो क्यों चुनाव लड़ूं

सवाल- उत्तराखंड में सरकार देवस्थानम बोर्ड, भू कानून जैसे मुद्दों पर भी घिरती दिखी है

जवाब- बिल्कुल घिरती दिखी है। हमारी सांस्कृतिक परंपराओं को आप ठेंगा दिखाकर देवस्थानम बोर्ड का गठन करेंगे, तो लोग विरोध में उतरेंगे। मैं उन्हें धन्यवाद देना चाहता हूं, हमारी पार्टी ने भी ये लड़ाई लड़ी है। इस सरकार ने कई कदम ऐसे उठाए जिसे वापस लेने पड़े। जब किसान शहीद हुए तो सरकार को नजर नहीं आय़ा लेकिन जब चुनाव देखा, सरकार खतरे में दिखी तो इन्हें किसानों में अन्नदाता नजर आने लगे।

भू-कानून को लेकर कांग्रेस ने दो कदम उठाए। हमने हिमाचल की तर्ज पर जमीन की खरीद फरोख्त पर सख्त कदम उठाए, हमने कहा बहारी व्यक्ति 500 मीटर से ज्यादा की जमीन नहीं खरीद सकता, खंडूरी की सरकार आई तो उन्होंने इसे 500 से घटाकर 250 कर दिया। सब ठीक चल रहा था लेकिन इस सरकार ने सारे कानूनों को निरस्त कर दिया। बीजेपी की सरकार ने गैरसैंण में टाउनशिप के नोटिफिकेशन को भी रद्द कर दिया और जमीनें खरीद डाली वहां। केवल अपने खरीदने के लिए नोटिफिकेशन रद्द कर दिया। अब बताएं टाउनशिप कैसे बनेगी वहां? हम वादा करते हैं ऐसा भू कानून लेकर आएंगे जो हमारी धरोहर की रक्षा करेगा। जिसका दुरुपयोग नहीं किया जा सकता। इसके अलावा हम चकबंदी का कानून भी लागू करेंगे।

सवाल- पलायन, शिक्षा और स्वास्थ्य भी उत्तराखंड में अहम मुद्दा है

जवाब- बीजेपी की सरकार के दौरान स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति खराब हो गई। इन्होंने पलायन रोकने के नाम पर पलायन आयोग का गठन किया कुछ दिन ये आयोग पहाड़ में रहा लेकिन बाद में पलायन आयोग ने सारे स्टाफ के साथ देहरादून में पलायन कर दिया। जब पलायन आयोग ही पहाड़ों में नहीं रहना चाहता है तो औरों से क्या उम्मीद करें। इन्होंने कितना गलत उदाहरण पेश किया। हमने पलायन रोकने के लिए कई योजनाएं बनाई थी। इन्होंने वही योजनाओं को खटाई में डालने का काम किया। हमने जल संग्रह, वृक्ष बोनस की योजना प्रारंभ की इन्होंने उसे बंद कर दिया। हमने रोजगार के लिए योजनाएं प्रारंभ की बीजेपी ने उसे भी बंद कर दिया।

सवाल- कांग्रेस किन मुद्दों के साथ जमीन पर उतरी है?

जवाब- हम एक स्वच्छ- स्वस्थ प्रशासन देने, एक विकास मूलक राज्य के रूप में उत्तराखंड को आगे बढ़ाने। साइंस टेक्नोलॉजी का उपयोग राज्य के लोगों के जीवन को सुधारने, रोजगार सृजन करने, स्वास्थ्य शिक्षा सुधार करने, लोक कल्याण योजनाओं को लागू करने के लिए हम लोगों से आशीर्वाद मांग रहे हैं। इस बार उत्तराखंड परिवर्तन चाह रही है।

सवाल- हरक सिंह रावत की घर वापसी से पार्टी को कितना फायदा होगा और बीजेपी को कितना नुकसान?

जवाब- हरक सिंह रावत के पार्टी में आने से निश्चित तौर पर फायदा पार्टी को होगा। लोगों का कहना है 'आ गया हरक, पड़ेगा फर्क' तो उनके आने से फर्क जरूर पड़ेगा । सबसे बड़ी बात ये है कि बीजेपी का मनोबल बहुत गिरा है हरक सिंह रावत के कांग्रेस में आने से।

सवाल- उत्तराखंड की राजनीति में आप की एंट्री को कैसे देखते हैं ? फ्री पानी-बिजली की बात करते हैं 'आप'

जवाब- आम आदमी पार्टी ऐसी पार्टी है जो सोच रही है कि मीडिया में बयान देकर सत्ता हासिल होगी, लेकिन ये चल नहीं पाएगा। रही बात फ्री बिजली की तो हम उनसे पहले से ही कह रहे हैं कि हम फ्री बिजली देंगे। मतलब पहले साल में 100 यूनिट फ्री बिजली देंगे, दूसरे साल में 200 यूनिट देंगे। आप के झूठ को जनता ने पकड़ लिया है। ये चलने वाला नहीं है।

सवाल- ओपिनियन पोल में पार्टी के साथ साथ अब सीएम के तौर पर हरीश रावत को जनता पसंद कर रही है

जवाब- मैं उत्तराखंड की जनता को धन्यवाद देना चाहता हूं। अगर मुझे सीएम के तौर पर देखना चाहते हैं तो जनता से मेरी अपील है कि हमें बहुमत दीजिए। जनका की कल्पना और सोच को पूरा करने का काम करेंगे।

सवाल- कांग्रेस अगर जीतती है तो सीएम हरीश रावत होंगे?

जवाब- ये नेतृत्व तय करेगा कि सीएम कौन होगा।

सवाल- अगर हम आप से पूछें कि उत्तराखंड की जनता बीजेपी से क्यों नाराज है?

जवाब- उत्तराखंड की जनता बीजेपी सरकार से नाराज है। तीन-तीन मुख्यमंत्री बदलकर उत्तराखंड का जो मजाक उड़ाया उससे जनता दुखी है। राज्य में बेरोजगारी चरम पर है। कोरोना के दौरान दूसरे नंबर पर मृत्यु दर उत्तराखंड के अंदर थी। लोग इन बातों को भूले नहीं है। शिक्षा स्वास्थ्य का ढांचा चरमरा गया है। भाजपा ने कुशासन दिया, भ्रष्टाचार दिया। उत्तराखंड को अवैध खनन का हब बना दिया है बीजेपी की सरकार ने। ये बाते हैं जो चीख चीख कर कह रही है अब बीजेपी नहीं आएगी।

देखें उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत का पूरा इंटरव्यू

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia