टोहाना में अन्नदाताओं के विरोध के आगे झुकी हरियाणा सरकार, गिरफ्तार किसान किये गए रिहा

संयुक्त किसान मोर्चा ने एक बयान जारी कर कहा कि टोहाना में सत्तारूढ़ जेजेपी के एमएलए देवेंद्र बबली के किसानों को अपशब्द कहे जाने का विरोध करने वाले निर्दोष किसान नेताओं की गिरफ्तारी के जवाब में संयुक्त किसान मोर्चा का आंदोलन आज सफलतापूर्वक पूरा हो गया है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

केंद्र के विवादित कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन के बीच आज सैंकड़ों किसानों के बढ़ते प्रतिरोध के बाद हरियाणा सरकार ने टोहाना कांड के विरोध में प्रदर्शन कर रहे किसानों की सभी मांगों को मान लिया और तीसरे गिरफ्तार किसान को भी प्रशासन ने रिहा कर दिया।

दरअसल फतेहाबाद के टोहाना (हरियाणा) थाने में गिरफ्तार किए गए किसानों की रिहाई और उनके खिलाफ एफआईआर वापस लेने की मांग को लेकर हजारों किसानों के धरने का आज तीसरा दिन था। संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं के साथ बड़ी संख्या में किसान 6 और 7 जून की रात भी टोहाना थाने के बाहर आंदोलन करते रहे।

इसी बीच किसानों ने आज प्रदेश में सभी थानों के घेराव का ऐलान किया था। जिसे देखते हुए प्रशासन ने संयुक्त किसान मोर्चा के दो युवा नेता, विकास सीसर और रवि आजाद को आज रिहा कर दिया। रिहा हुए दोनों साथी सुबह टोहाना थाने के बाहर चल रहे प्रदर्शन में भी शामिल हुए।
इसके बाद संयुक्त किसान मोर्चा ने सुबह ये निर्णय लिया कि हरियाणा के अन्य पुलिस थानों पर घोषित प्रदर्शन को रद्द किया जाए, लेकिन टोहाना थाने के बाहर प्रदर्शन जारी रहेगा।


संयुक्त किसान मोर्चा ने सभी स्थानों विशेषकर सिरसा, फतेहाबाद, जींद और हिसार जिलों के किसानों से टोहाना थाने के बाहर चल रहे प्रदर्शन में हिस्सा लेने का आह्वान किया। संयुक्त किसान मोर्चा के इस आह्वान पर हजारों प्रदर्शनकारी टोहाना पहुंच गए। हालांकि कुछ देर बाद प्रशासन और पुलिस के साथ बातचीत के बाद यह तय हुआ कि इस केस की एफआईआर को सरकार की तरफ से वापस ले लिया जाएगा।

संयुक्त किसान मोर्चा ने इस मसले पर एक बयान जारी किया है, जिसमें कहा गया है कि टोहाना में सत्तारूढ़ जेजेपी के एमएलए देवेंद्र बबली द्वारा किसानों को अपशब्द कहे जाने और उसका विरोध करने वाले निर्दोष किसान नेताओं की गिरफ्तारी के जवाब में संयुक्त किसान मोर्चा का आंदोलन आज सफलतापूर्वक पूरा हो गया है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia