हरियाणा पुलिस ने फरीदाबाद में कांग्रेस विधायक को गणतंत्र दिवस में जाने से रोका, डिटेन किया, हुड्डा ने छुड़ाया

कांग्रेस ने कहा कि पुलिस ने बाकायदा अपने बयान में कहा है कि फरीदाबाद एनआईटी से कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा को गणतंत्र दिवस समारोह में जाने से सिर्फ इसलिए रोक दिया गया क्योंकि उन्होंने 'जय सियाराम' लिखा हुआ कुर्ता पहन रखा था।

हरियाणा पुलिस ने फरीदाबाद में कांग्रेस विधायक को गणतंत्र दिवस में जाने से रोका, डिटेन किया
हरियाणा पुलिस ने फरीदाबाद में कांग्रेस विधायक को गणतंत्र दिवस में जाने से रोका, डिटेन किया
user

धीरेंद्र अवस्थी

हरियाणा के फरीदाबाद में जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह में भाग लेने गए स्थानीय कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा को पुलिस ने न सिर्फ वहां नहीं जाने दिया, बल्कि धक्के भी मारे। जब पुलिस ने नीरज शर्मा को फरीदाबाद के गणतंत्र दिवस समारोह में नहीं जाने दिया तो वह पानीपत में आयोजित राज्यपाल के एट होम में भाग लेने पानीपत पहुंच गए, लेकिन पुलिस ने उन्हें वहां भी नहीं जाने दिया और डिटेन कर लिया। इस बात की जानकारी जब पूर्व मुख्य्मंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को हुई तो वह नीरज शर्मा को पुलिस से छुड़ा कर ले गए। वह काफी गुस्से में थे। उन्होंने पुलिस से सवाल भी किया कि इस तरह किसी विधायक को वह कैसे डिटेन कर सकती है।

नीरज शर्मा को पुलिस हिरासत से छुड़ाने के बाद भूपेंद्र हुड्डा ने कहा कि एनआईटी फरीदाबाद के कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा को राष्ट्रीय पर्व गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम का सरकारी निमंत्रण भेजकर उसमें शामिल नहीं होने देना और सरकार के इशारे पर गैरकानूनी रूप से पानीपत रेस्ट हाउस में हिरासत में रखना शर्मनाक, निंदनीय और तानाशाही की सारी सीमाओं को पार करने वाली हरकत है। बीजेपी-जेजेपी सरकार गणतंत्र दिवस के इस पवित्र दिन भी संविधान और प्रजातंत्र का गला घोंटने से बाज नहीं आ रही है।

दरअसल पूरा देश जब गणतंत्र दिवस का जश्न मना रहा था तो कांग्रेस के विधायक नीरज शर्मा पुलिस के धक्के खा रहे थे। वह भी इसलिए कि वह फरीदाबाद में हो रहे जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस के समारोह में भाग लेने के लिए जाना चाह रहे थे। यह वही नीरज शर्मा हैं, जिन्होंने खट्टर सरकार की उपेक्षा से दुखी होकर 17 जनवरी को कफन का चोला धारण कर लिया था।

जब फरीदाबाद पुलिस ने उन्हें गणतंत्र दिवस समारोह में नहीं जाने दिया तो पानीपत में हो रहे राज्य स्तरीय समारोह के बाद आयोजित राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय के एट होम में भाग लेने के लिए वह पानीपत पहुंच गए, लेकिन पानीपत पुलिस ने भी उन्हें इजाजत नहीं दी। पुलिस के अधिकारी पहले उन्हें असंध नाके पर ले गए, इसके बाद डिटेन कर उन्हें पीडब्यूडी रेस्ट हाउस लाया गया। नीरज शर्मा पुलिस को एट होम का निमंत्रण पत्र दिखाते रहे, लेकिन वह नहीं मानी।


नीरज शर्मा के डिटेन होने का पता चलते ही पूर्व मुख्यामंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा रेस्ट हाउस पहुंचे। हुड्‌डा रेस्ट हाउस से नीरज शर्मा को हाथ पकड़कर बाहर ले आए और पुलिस अधिकारियों पर भड़कते हुए कहा कि आप एमएलए को रोक सकते हो क्या? उन्होंने नीरज को अपनी गाड़ी में बैठा लिया। हुड्डा ने कहा कि गेट पर चेकिंग के दौरान नीरज को रोका जा सकता था, लेकिन बीच रास्ते से विधायक को डिटेन करना बिल्कुल गलत है।

नीरज शर्मा ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि आज मेरा कत्ल भी करवाया जा सकता था। उन्होंने मेरा फोन भी छीन लिया। पानीपत में मेरे रिश्तेदारों को भी मुझसे मिलने अंदर नहीं आने दिया। यह तो पिता तुल्य पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को कहीं से भनक लग गई और वह मुझे छुड़वाने आ गए।

कांग्रेस ने इस पर गंभीर सवाल उठाए हैं। कांग्रेस ने कहा कि जनता द्वारा चुने गए फरीदाबाद एनआईटी से कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा को गणतंत्र दिवस समारोह में जाने से सिर्फ इसलिए रोक दिया गया क्योंकि उन्होंने 'जय सियाराम' लिखा हुआ कुर्ता पहन रखा था। पहले फरीदाबाद और फिर पानीपत में विधायक को पुलिस ने अपनी हिरासत में लेकर रेस्ट हाउस में बंद कर दिया। पुलिस ने बाकायदा अपने बयान में कहा है कि कुर्ते पर 'जय सियाराम' लिखे होने की वजह से विधायक को कार्यक्रम में जाने से रोका गया।

ऐसे में सवाल खड़ा होता है कि क्या बीजेपी भगवान राम के नाम पर सिर्फ राजनीति कर रही है और असल में बीजेपी को उनके नाम से चिढ़ है? नीरज शर्मा ने भी सवाल उठाया है कि कि जय सियाराम से क्यों घबरा रही है खट्टर सरकार? क्या बीजेपी को राम के भक्तों से भी चिढ़ है? या बीजेपी चाहती है कि भाजपाइयों के अलावा कोई भगवान राम का नाम न ले?...

गौरतलब है कि नीरज शर्मा फरीदाबाद की एनआईटी विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के विधायक हैं। अपनी विधानसभा के विकास के लिए फंड न मिलने से दुखी होकर उन्होंने 17 जनवरी को चंडीगढ़ में अपने कपड़े उतार कर कफन का चोला धारण कर लिया था। इस चोले पर उनकी विधानसभा की जन समस्याओं के चित्र छपे हुए हैं और उन समस्याओं के बारे में लिखा है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


;