उत्तर प्रदेश में कोरोना का रौद्र रूप, बीते 24 घंटे में 223 लोगों की मौत, 38,055 नए केस मिले

लखनऊ में बीते 24 घंटे में 42 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 5461 नए संक्रमित मिले हैं। लखनऊ में फिलहाल 53143 एक्टिव केस हैं और कुल मिलाकर 1648 लोगों की मौत हो चुकी है। वाराणसी में 2786 नए संक्रमित मिले हैं, जबकि दस लोगों ने 24 घंटे में दम तोड़ा है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर हर रोज ही अपना रौद्र रूप दिखा रही है। प्रदेश में बीते 24 घंटों में कोरोना वायरस के 38,055 नए संक्रमित सामने आए हैं। इसी दौरान सूबे में 223 लोगों की सांसे भी थम गई हैं। राज्य में कोरोना के कहर से हालात तेजी से बिगड़ते जा रहे हैं।

उत्तर प्रदेश स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि बीते 24 घंटे में नए मामले सामने आने के बाद इस समय प्रदेश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 2,88,144 है और अब तक 10959 लोगों की मौत हो चुकी है। इस दौरान इलाज के बाद 23,231 लोगों को डिस्चार्ज किया गया। अब तक कोरोना से कुल 7,52,211 लोग ठीक भी हो चुके हैं। कल प्रदेश में 2,25,960 सैंपल्स की जांच की गई। अब तक प्रदेश में 3,95,40,989 सैंपल्स की जांच की गई है।


लखनऊ में बीते 24 घंटे में 42 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 5461 नए संक्रमित मिले हैं। लखनऊ में फिलहाल 53143 एक्टिव केस हैं और कुल मिलाकर 1648 लोगों की मौत हो चुकी है। वाराणसी में 2786 नए संक्रमित मिले हैं, जबकि दस लोगों ने 24 घंटे में दम तोड़ा है। कानपुर में 13 लोगों की मौत हुई है और 2040 संक्रमित मिले हैं। प्रयागराज में लखनऊ के बाद सर्वाधिक 15 मौत हुई हैं। यहां पर 1468 नए संक्रमित मिले हैं।

इसी तरह आगरा में 11 लोगों की मौत हो गई, जबकि 24 घंटे में 409 नए संक्रमित केस सामने आए हैं। मेरठ में 1745, मुरादाबाद में 1351, गोरखपुर में 1344, बरेली में 1024, नोएडा में 970, झांसी में 955, गाजीपुर में 940, जौनपुर में 732, लखीमपुर खीरी में 644, गाजियाबाद में 585, चंदौली में 522 और शाहजहांपुर में 501 नए संक्रमित मिले हैं।


उत्तर प्रदेश में अब तक 96,79,557 लोगों को कोरोना वायरस वैक्सीन की पहली डोज दी जा चुकी है। इसके साथ ही वैक्सीन की दूसरी डोज अब तक 19,43,675 लोग ले चुके हैं। अपर मुख्य सचिव सूचना, नवनीत सहगल ने बताया कि प्रदेश में रेमडेसिविर के अब तक 18,000 इंजेक्शन प्राप्त हुए हैं। रेमडेसिविर के इंजेक्शन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं।

इसके साथ ही उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि डॉक्टर की दवा की पर्ची दिखाने पर ऑक्सीजन सिलेंडर दिया जाए ताकि होम आइसोलेशन में लोगों को परेशानी न हो। प्रदेश में ऑक्सीजन के लिए नियंत्रण कक्ष खोला गया है। जिसके माध्यम से अस्पतालों को कब, कहां, कितनी ऑक्सीजन जा रही है, इसकी निगरानी की जा रही है। ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia