उत्तर भारत में झुलसाने वाली गर्मी से नहीं मिलेगी राहत, ओडिशा और विदर्भ में अगले 5 दिनों तक लू चलने की संभावना

उत्तराखंड, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा और बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के कई स्थानों पर अधिकतम तापमान सामान्य से काफी अधिक रहा।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

आईएएनएस

राजस्थान के बाड़मेर में अधिकतम तापमान 45.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है, जो कि सबसे अधिक है और अब लू (हीट वेव) की स्थिति एक छोटे अंतराल के बाद पूरे भारत के अलग-अलग इलाकों में फिर से लौट आई है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बुधवार को यह जानकारी दी। आईएमडी ने भविष्यवाणी की है कि ओडिशा और महाराष्ट्र में विदर्भ के अलग-अलग इलाकों में अगले पांच दिनों के लिए लू की स्थिति देखने को मिल सकती है।

इसी तरह, 27 अप्रैल को बिहार और उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल के अलग-अलग हिस्सों में लू की स्थिति बनी रहेगी, 29 अप्रैल तक झारखंड, गंगीय पश्चिम बंगाल क्षेत्र में, 27-30 अप्रैल के दौरान गुजरात, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश के पूर्वी हिस्सों में लू चलने की उम्मीद है। इसके अलावा 28-30 अप्रैल के दौरान पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, मध्य महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ और 27 और 27-28 अप्रैल को तेलंगाना में भी यही स्थिति हो सकती है।

मंगलवार को बिहार और गंगीय पश्चिम बंगाल क्षेत्र में लू की स्थिति बनी रही।

उत्तराखंड, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा और बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के कई स्थानों पर अधिकतम तापमान सामान्य से काफी अधिक रहा।

हालांकि, एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव में, 28-30 अप्रैल के दौरान जम्मू एवं कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद और हिमाचल प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर गरज या बिजली के साथ हल्की या मध्यम छिटपुट वर्षा होने की संभावना है। इसके अलावा 29 और 30 अप्रैल को उत्तराखंड में, जबकि 28 अप्रैल को जम्मू-कश्मीर में भी ओलावृष्टि की संभावना है।

आईएमडी ने कहा कि पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और राजस्थान में 29 अप्रैल को धूल भरी आंधी या गरज के साथ हल्की बारिश होने की संभावना है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia