आंध्र प्रदेश में भारी बारिश का कहर, जलजमाव में बसों के फंसने से 12 लोगों की मौत

मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी शनिवार को बारिश से बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे। मुख्यमंत्री संबंधित जिला कलेक्टरों के साथ बारिश की स्थिति की समीक्षा करने के बाद कडप्पा, चित्तूर और नेल्लोर सहित भारी बारिश से प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करेंगे।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

आंध्र प्रदेश के कडप्पा जिले में शुक्रवार को भारी बारिश के कारण आई बाढ़ में फंस जाने से कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई और 18 अन्य लोग लापता हो गए। बचावकर्मियों ने 12 शव निकाले हैं और राजमपेट इलाके में लापता लोगों की तलाश कर रहे हैं।

यह घटना तब हुई जब शुक्रवार को कडप्पा जिले के मांडपल्ले, अकेपाडु और नंदलुरु गांवों में बसें बाढ़ के पानी में फंस गईं। चालक और परिचालक सहित यात्री बसों की छत पर चढ़ गए थे। कुछ को स्थानीय निवासियों ने बचा लिया, जबकि 30 लोगों के बह जाने की आशंका है। नंदलुरु के पास एक आरटीसी बस से तीन शव बरामद किए गए हैं। गुंडलुरु में सात शव मिले, जबकि तीन शव रायवरम इलाके से निकाले गए।

इससे पहले भारी बारिश के चलते आज जिले में अन्नामय्या जलाशय टूट गया, जिससे गुंडलुरु, शेषमंबापुरम और मंडपल्ले के आसपास के गांवों में बाढ़ आ गई। इस बीच, अनंतपुर जिले में चित्रावती नदी में फंसे 10 लोगों को भारतीय वायु सेना के एक हेलिकॉप्टर द्वारा एयरलिफ्ट किया गया। स्थानीय अधिकारियों द्वारा बाढ़ के पानी में फंसे लोगों को बचाने में विफल रहने के बाद हेलीकॉप्टर की मदद ली गई। पुलिस ने कहा कि एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, राजस्व, अग्निशमन सेवा और तैराकों के कर्मियों ने भी बचाव अभियान में भाग लिया।


शुक्रवार तड़के पुडुचेरी और चेन्नई के बीच उत्तरी तमिलनाडु और उससे सटे दक्षिण आंध्र प्रदेश के तटों को पार करने वाले दबाव के प्रभाव में नेल्लोर, चित्तूर, कडप्पा और अनंतपुर जिलों में शुक्रवार तड़के भारी बारिश हुई। तीन जिलों के निचले इलाकों में पानी भर गया, जबकि नालों टैंक और जलाशयों में पानी भर गया।

प्रदेश में भारी बारिश ने सामान्य जनजीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया है। प्रभावित जिलों के सभी शैक्षणिक संस्थानों में अवकाश घोषित कर दिया गया है। राज्य सरकार ने नेल्लोर, चित्तूर और कडप्पा जिले में बचाव और राहत कार्यों की निगरानी के लिए तीन विशेष अधिकारियों की नियुक्ति की है। मंदिर नगरी तिरुपति के कई इलाकों में शुक्रवार को पानी भर गया। गुरुवार से हो रही भारी बारिश ने कस्बे में कहर बरपा रखा है।


मुख्यमंत्री वाई.एस. जगन मोहन रेड्डी शनिवार को बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे। मुख्यमंत्री संबंधित जिला कलेक्टरों के साथ बारिश की स्थिति की समीक्षा करने के बाद कडप्पा, चित्तूर और नेल्लोर सहित भारी बारिश से प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करेंगे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia