हेमा मालिनी आचार संहिता उल्लंघन में बुरी फंसी, सरकारी स्कूल में बिना अनुमति किया जनसभा, पढ़ रहे थे बच्चे

सरकारी स्कूल में चुनावी सभा करने पर हेमा मालिनी को नोटिस भेजा गया है। मथुरा लोकसभा क्षेत्र के चौमुहां गांव में चुनाव प्रचार के दौरान हेमा ने स्कूल परिसर में जन सभा को सम्बोधित किया। जिला निर्वाचन अधिकारी ने हेमा मालिनी से इस पर तीन दिनों में जवाब तलब किया है।

फोटो: सोशल मीडिया 
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बीजेपी के नेता आचार संहिता का उल्लंघन करने से बाज नहीं आ रहे हैं। ताजा मामला मथुरा का है। जहां सरकारी स्कूल में बिना अनुमित के चुनावी सभा करने पर बीजेपी प्रत्याशी हेमा मालिनी और अन्य आयोजकों को नोटिस जारी किया गया है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने हेमा मालिनी से इस पर तीन दिनों में जवाब तलब किया है।

खबरों के मुताबिक, मंगलवार को बीजेपी प्रत्याशी हेमा मालिनी की चुनावी सभा गांव आझई में कराने की जिला प्रशासन से अनुमति ली गई थी, लेकिन आखिरी वक्त में आयोजकों ने कार्यक्रम स्थल में बदलाव किया और उन्होंनों गांव के प्रस्तावित स्थान के बजाय पूर्व माध्यमिक विद्यालय में ही सभा के पंडाल लगवा दिए। बताया जा रहा है कि जिस समय सभा का आयोजन होना था, उस समय स्कूल में बच्चे पढ़ रहे थे। इतना ही नहीं हेमा मालिनी के आने से पहले आयोजकों ने मंच पर हरियाणवी डांस भी करा दिया।

इस मामले में स्कूल की प्रभारी प्रधानाध्यापिका सरला देवी शर्मा ने बताया कि जब स्कूल में पंडाल लगाए जा रहे थे तो उन्हें लगा कोई विभागीय कार्यक्रम होने जा रहा है। लेकिन जब चुनावी सभा का पता चला तो आयोजकों सवाल किया। लेकिन उन्होंने जवाब देने के बजाय चुप करा दिया। उन्होंने आगे कहा कि मुझे समझ में नहीं आ रहा है कि स्कूल में यह आयोजन कैसे हो गया।

मामला सामने आने के बाद आनन-फानन में डीएम सर्वज्ञराम मिश्र ने इस मामले की जांच एसडीएम छाता रामदत्त राम को सौंपी। जांच के बाद एसडीएम छाता ने हेमा मालिनी और आयोजक को आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किए जाने का नोटिस जारी कर दिया है। डीएम ने बताया कि जवाब आने के बाद ही अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 04 Apr 2019, 11:17 AM
;