हैक हो गई हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट बुकिंग वेबसाइट, 5 घंटे बाद कंपनी का दावा- लोगों का डाटा सुरक्षित

पोर्टल चलाने वाली कंपनी रोजमार्टा का दावा है कि आधे दिन तक पोर्टल हैक रखने के बावजूद हैकर्स साइट के डाटाबेस तक नहीं पहुंच पाए, जिसके चलते वाहन मालिकों का डाटा पूरी तरह सुरक्षित है। इस बीच कंपनी ने दिल्ली पुलिस के साइबर सेल और स्पेशल सेल में शिकायत दर्ज कराई है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट और कलर कोडेड स्टीकर के लिए आवेदन करन वाला पोर्टल www.bookmyhsrp.com बुधवार को हैक हो गया। कंपनी की साइट पर करीब 5 घंटे तक हैकरों का कब्जा रहा, जिसकी वजह से दिन भर वाहन मालिकों को घंटों परेशानी का सामना करना पड़ा। हाई सेक्योरिटी नंबर प्लेट और कलर कोडेड स्टीकर के लिए वाहन मालिकों को इसी पोर्टल पर जाकर आवेदन करना पड़ता है।

इस पोर्टल को चलाने वाली कंपनी रोजमार्टा ने बताया कि पोर्टल को कुछ हैकरों ने बुधवार सुबह करीब 10.50 बजे हैक कर लिया। इस कारण शाम 4.05 बजे तक पोर्टल पर कोई भी ऑनलाइन आवेदन नहीं कर पाया। रोजमार्टा का दावा है कि आधे दिन तक पोर्टल पर कब्जा रखने के बावजूद हैकर्स साइट के डाटाबेस तक नहीं पहुंच पाए, जिसके चलते वाहन मालिकों का डाटा पूरी तरह सुरक्षित है। इस बीच कंपनी ने दिल्ली पुलिस के साइबर सेल और स्पेशल सेल में शिकायत दर्ज कराई है।

कंपनी ने बताया कि वेबसाइट को जब हैक किया गया, तब इसके डोमेन को ब्लॉक कर दिया गया, जिससे बुकिंग अचानक रुक गई। इसके बाद शाम में जैसे ही वेबसाइट ने वापस काम करना शुरू किया तो बुकिंग भी तेजी से आनी शुरू हो गई। रोजमार्टा ने दावा किया कि कंपनी भविष्य में ऐसी किसी स्थिति से बचने के लिए जरूरी कदम उठाएगी।

एचएसआरपी और कलर कोडेड स्टीकर के लिए पहले कंपनी को हर रोज ढाई हजार बुकिंग मिलती थी, लेकिन नए नियमों के बाद मंगलवार को 32 हजार बुकिंग मिली और बुधवार को 30 हजार से ज्यादा बुकिंग दर्ज हुई। बता दें कि एचएसआरपी और कलर कोडेड स्टीकर के बिना चलने वाली गाड़ियों पर 5500 रुपये तक का चालान किया जा रहा है। हालांकि, इसके लिए की गई बुकिंग की रसीद दिखाने पर चालान नहीं किया जा रहा है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia