कश्मीर में बेहद तनावपूर्ण हालात, कई नेता नजरबंद, 144 लागू, इंटरनेट बंद, स्कूल-कॉलेज बंद, रैली-जुलूस पर रोक

जम्मू-कश्मीर में हालात बेहद तनावपूर्ण हैं। कई नेताओं को नजरबंद कर दिया गया है, कई की गिरफ्तारी के दावे हैं। इंटरनेट बंद है। पूरे राज्य में स्कूल-कालेजों की अगले आदेश तक छुट्टी है। पुलिस अफसरों और थानों को सैटेलाइट फोन दिए जाने खबरें हैं।

फोटो : सोशल मीडिया
फोटो : सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कश्मीर घाटी में अतिरिक्त सुरक्षा बलों की तैनाती के आदेश और सेना-वायुसेना को हाई अलर्ट पर रखने की सूचना के बाद से रोज आ रहे नए आदेशों और सूचनाओं से हड़कंप मचा हुआ है और हालात बेहद तनावपूर्ण हो गए हैं। ताजा जानकारियों में बताया गया है कि पूरे जम्मू-कश्मीर में धारा 144 लागू कर दी गई है, लेकिन इसके अमल से पूरे राज्य में कर्फ्यू जैसा माहौल है।

हालांकि सरकारी तरफ से कर्फ्यू से इनकार किया गया है, लेकिन आम लोगों के कहीं भी आने जाने पर पाबंदी लगा दी गई है।


इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्लाह और महबूबा मुफ्ती के साथ ही अलगाववादी नेता सज्जाद लोन ने भी खुद के घर में नजरबंद होने का दावा किया है।

उमर अब्दुल्ला ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। उन्होंने कहा कि, “हमें नहीं पता कि क्या होने वाला है। मेरा अटूट विश्वास है कि अल्लाह जो भी करता है अच्छा ही करता है। हमें नहीं पता होता है, लेकिन उम्मीद नहीं छोड़नी चाहिए। सब लोग शांत रहें और संयम से काम लें।”

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने नेताओं की नजरबंदी और गिरफ्तारी पर सवाल उठाया है। उन्होंने ट्वीट में कहा कि आखिर यह सब क्यों हो रहा है।


इस दौरान जम्मू और कश्मीर के स्कूल-कॉलेजों और सभी अन्य शिक्षण संस्थाओं को अगले आदेशों तक बंद रखने का ऐलान किया गया है। इसके अलावा जम्मू रीजन में भी मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को सस्पेंड कर दिया गया है।


अफसरों और थानों को दिए गए सैटेलाइट फोन

इसके अलावा खबरें हैं कि कश्मीर में तैनात प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों को सेटेलाइट फोन दिए गए हैं। सोशल मीडिया पर इन अधिकारियों के फोन नंबर की लिस्ट भी जारी की गई है। हालांकि, इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। एक अखबार के मुताबिक सोशल मीडिया पर जिन अधिकारियों और थानों को सैटेलाइट फोन दिए गए हैं उनमें मुख्य सचिव, डीजीपी, सभी डीसी, एसपी और थानेदार शामिल हैं। बताया जा रहा है कि लेह और कारगिल जिले को छोड़कर 105 एसएचओ को सैटेलाइट फोन नंबर जारी किए गए हैं। 70 प्रशासनिक अफसरों और 29 पुलिस अफसरों को नंबर दिए गए हैं। कुल 204 नंबरों की सूची सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।


जम्मू-कश्मीर सरकार के कई अधिकारियों और कर्मचारियों को कर्फ्यू के दौरान ऑफिस आने-जाने के लिए पास जारी किया जा चुका है. वहीं, कश्मीर घाटी में सुरक्षा बलों की तैनाती के बीच जम्मू क्षेत्र में भी सुरक्षा बढ़ाई दी गयी है और सीमावर्ती पुंछ और राजौरी जिलों में अतिरिक्त सुरक्षा बलों को तैनात किया जा रहा है.

कश्मीर में बेहद तनावपूर्ण हालात, कई नेता नजरबंद, 144 लागू, इंटरनेट बंद, स्कूल-कॉलेज बंद, रैली-जुलूस पर रोक

35ए को हटाए जाने की अफवाह


कश्मीर से अनुच्छेद 35ए को हटाए जाने की अफवाह रविवार को दिनभर चर्चा में रही। इसके तहत संसद में 35ए को लेकर संशोधन विधेयक सोमवार को लाया जा सकता है। लोकसभा से इसे पास कराने के बाद मंगलवार को राज्यसभा से भी इसे पास कराए जाने की अफवाह रही। यह चर्चा भी चलती रही कि इसमें कुछ आवश्यक संशोधन किए जाएंगे।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 05 Aug 2019, 6:00 AM