बिहार के सबसे बड़े कोरोना अस्पताल से भयावह तस्वीर, ‘शव’ के बीच रहने को लोग मजबूर! वीडियो वायरल

ऐसा पहली बार नहीं जब अस्पताल से इस तरह का वीडियो सामने आया है। इससे पहले आईसीयू से ऐसा वीडियो सामने आया था। अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि वो जल्दबाजी में सबको इसलिए नहीं हटा सकता, क्योंकि उसे न सिर्फ परिवार वालों का इंतजार करना होता है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

बिहार में कोरोना से मचे कोहराम के बीच भयावह तस्वीरें सामने आ रही हैं। राज्य में तेजी से कोरोना के मरीज बढ़ रहे हैं, लेकिन आरोप है कि सरकार कोरोना मरीजों को बेड तक मुहैया नहीं करा पा रही है। कोरोना अस्पतालों का हाल बेहाल है। राजधानी पटना में सरकार के सबसे बड़े कोविड अस्पताल नालंदा मेडिकाल कॉलेज के वार्ड से बदहाली की जो तस्वीरें सामने आई हैं उसने सभी को डरा दिया है। अस्पताल का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है कि इसमें एक मृत व्यक्ति का शव बेड पर रखा हुआ है। डेड बॉडी के साथ मरीज इस वॉर्ड में रहने को मजबूर हैं। खबरों के मुताबिक, वार्ड में आस-पास मौजूद मरीज इस बात का इंतजार कर रहे हैं कि कब अस्पताल प्रशासन डेड बॉडी को वहां से हटाएगा।

खबरों के मुताबिक, ऐसा पहली बार नहीं जब इस अस्पताल से इस तरह का वीडियो सामने आया है। इससे पहले अस्पताल के आईसीयू से ऐसा वीडियो सामने आया था। अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि वो जल्दबाजी में सबको इसलिए नहीं हटा सकता, क्योंकि उसे न सिर्फ परिवार वालों का इंतजार करना होता है और साथ-साथ जिला प्रशासन से अंत्योष्टि का समय भी लेना पड़ता है।


बताया जा रहा है कि जिला प्रशासन के ऊपर ही अंत्येष्टि की जिम्मेदारी है। उसके कर्मचारी शाम से पहले इसलिए नहीं आते, क्योंकि पटना के पास घाट पर सूर्यास्त के बाद ही अंत्येष्टि की जाती है ताकी स्थानीय लोगों का विरोध न झेलना पड़े।

बिहार में कोरोना वायरस के अब तक 27,455 से मामले सामने आ चुके हैं और 187 लोगों की मौत हो चुकी है। राज्य में 9700 से ज्यादा मामले सक्रिय हैं, और 17 हजार से ज्यादा लोग इलाज से बाद ठीक हो चुके हैं। पिछले कुछ दिनों में जिस तरह से बिहार में कोरोना के मामले बढ़े हैं उससे आम लोगों की चिंताएं बढ़ गई हैं। राज्य में हर दिन हजार से 1700 नए मरीज सामने आ रहे हैं। यही वजह है कि सरकार को राज्य में लॉकडाउन की घोषणा करनी पड़ी। लेकिन लॉकडाउन के बावजदू स्थितियां सुधर नहीं रही हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 21 Jul 2020, 9:48 AM