बागेश्वर धाम वाले कथावाचक धीरेंद्र शास्त्री एक कार्यक्रम के लिए कितना पैसा लेते है? जानकर रह जाएंगे दंग!

क्या आप जानते हैं कि बागेश्वर धाम वाले धीरेंद्र शास्त्री जैसे बड़े कथावाचक एक कार्यक्रम के लिए कितने पैसे लेते हैं? उनके एक कार्यक्रम पर कितना पैसा खर्च होता है? यह जानकर आप दंग रह जाएंगे।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देशभर में हर दिन हजारों धार्मिक कार्यक्रमों के आयोजन होते हैं। भागवत कथा, श्रीराम कथा और शिव महापुराण कथा जैसे कार्यक्रम आयोजित कराए जाते हैं। मौजूदा समय में इनमें से ज्यादातर बड़े और भव्य कार्यक्रमों में मध्य प्रदेश के बागेश्वर धाम वाले पंडित धीरेंद्र शास्त्री, पंडित प्रदीप मिश्रा और जया किशोरी दिखाई देते हैं। इनके कार्यक्रमों में लाखों लोग शामिल होते हैं।

क्या आप जानते हैं कि बागेश्वर धाम वाले धीरेंद्र शास्त्री जैसे बड़े कथावाचक एक कार्यक्रम के लिए कितने पैसे लेते हैं? उनके एक कार्यक्रम पर कितना पैसा खर्च होता है? यह जानकर आप दंग रह जाएंगे। आइए अब आपको बताते हैं कि हैं कि ऐसे कार्यक्रमों पर कितना पैसा खर्च होता है और धीरेंद्र शास्त्री जैसे कथावाचक कितने पैसे लेते हैं।


पंडित धीरेंद्र शास्त्री, पंडित प्रदीप मिश्रा और जया किशोरी जैसे हाईप्रोफाइल प्रवचनकारों और कथावाचकों के कार्यक्रमों में करोड़ों रुपये खर्च होते हैं। पंडित धीरेंद्र शास्त्री, पंडित प्रदीप मिश्रा और जया किशोरी के कार्यक्रम बहुत बड़े स्तर पर आयोजित किए जाते हैं। पंडित धीरेंद्र शास्त्री की कथा में करीब 1.50 करोड़ रुपये का खर्च आता है। धीरेंद्र शास्त्री के कार्यक्रम 5 से 7 दिन का रहता है। वहीं, सीहोरवाले पंडितजी के रूप में जाने जाने वाले कथावाचक प्रदीप मिश्रा की कथा का पैकेज न्यूनतम 1.50 करोड़ रुपये का है। विदुषी जया किशोरी भी एक कार्यक्रम के 9 से 10 लाख रुपए लेती हैं। चैनल पर प्रसारण, पांडाल, साउंड सहित अन्य खर्च अलग से रहते हैं।

कथावाचकों के आयोजन पर कितना खर्च आता है?

  • भक्ति चैनल के पर प्रसारण 9 लाख रुपये का खर्च।

  • कथावाचक की दान-दक्षिणा पर 20 से 30 लाख रुपये का खर्च।

  • आयोजन स्थल-पांडाल पर 25 से 30 लाख रुपये का खर्च।

  • अन्नपूर्णा भोजनालय, प्रसाद पर 15 लाख रुपये का खर्च।

  • साउंड सिस्टम और स्क्रीन पर 10 से 15 लाख रुपये का खर्च।

  • सुरक्षा व्यवस्था पर 8 से 10 लाख रुपये का खर्च।

  • अन्य खर्च 5 से 10 लाख का होता है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 07 Mar 2023, 2:02 PM
;