महाराष्ट्र में कोरोना मामलों में भारी उछाल जारी, एक हफ्ते में संक्रमित हुए 30 से अधिक मंत्री और विधायक

राज्य के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने शनिवार को चेतावनी दी कि अगर राज्य में नए कोविड मामले या ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामले ऐसे ही जारी रहे तो कड़े प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं। इसके साथ ही उन्होंने लोगों से कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील की।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

महाराष्ट्र में शनिवार को फिर से कोविड मामलों में तेज वृद्धि दर्ज की गई, हालांकि ओमिक्रॉन संक्रमण एकल अंकों में रहा। राज्य में शुक्रवार को जहां 8,067 मामले देखे गए थे, वहीं शनिवार को 9,170 केस पाए गए हैं। हालांकि, मृत्यु का आंकड़ा 8 से घटकर 7 दर्ज किया गया है, जबकि मृत्युदर 2.11 प्रतिशत पर स्थिर बनी हुई है। लगातार चौथे दिन मामलों में बड़े पैमाने पर वृद्धि देखे जाने के बाद संदिग्ध मामलों के सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए हैं। कोविड मामलों में उछाल के बीच सरकार ने तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए चेताया है।

वहीं आज ओमिक्रॉन के 6 नए केस मिले हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि केवल चार ओमिक्रॉन संक्रमण दर्ज करने के बाद, राज्य ने नए वैरिएंट के छह और मामले दर्ज किए हैं, जिसके बाद राज्य में इन मामलों की संख्या 454 से 460 तक पहुंच गई है। सभी छह मामले पुणे जिले से सामने आए हैं। पुणे पिछली दो लहर के दौरान राज्य में मुंबई के बाद दूसरे स्थान पर बना हुआ है।


महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने शनिवार को एक चौंकाने वाला खुलासा करते हुए कहा कि पिछले कुछ दिनों के दौरान ही एक सांसद सुप्रिया सुले समेत राज्य के 10 से अधिक मंत्री और 20 से अधिक विधायक कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। उन्होंने यह भी चेतावनी दी कि अगर राज्य में नए कोविड मामले या ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामले ऐसे ही जारी रहे तो कड़े प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं। इसके साथ ही उन्होंने लोगों से कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील की।

राज्य में मुंबई, पुणे और नागपुर अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डों पर उतरने वाले यात्रियों की गहन निगरानी 1 दिसंबर से ही चल रही है। कुल 30,728 यात्री उच्च जोखिम वाले देशों से यहां आए हैं, जिनमें से 272 पॉजिटिव पाए गए हैं, जबकि 135 यात्री अन्य देशों से आए हैं। उनकी रिपोर्ट जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजी गई है, ताकि यह पुष्टि की जा सके कि वे ओमिक्रॉन से संक्रमित हैं या नहीं। अधिकारियों ने कहा कि इसके अलावा, 1 नवंबर से किए गए क्षेत्रीय सर्वेक्षणों से अन्य 1,806 नमूने जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए हैं, जिनमें से 102 के परिणाम प्रतीक्षित हैं।

ओमिक्रॉन राज्य के कई जिलों में व्यापक रूप से फैल गया है, जिसमें मुंबई में अधिकतम 327 मामले हैं, इसके बाद पुणे में 62, ठाणे में 31, रायगढ़ में आठ, नागपुर और सतारा में छह-छह, उस्मानाबाद में पांच, पालघर में चार, नांदेड़ में तीन मामले हैं। इसके अलावा बुलढाणा और औरंगाबाद में दो-दो और अकोला, लातूर, अहमदनगर और कोल्हापुर में एक-एक मामला सामने आया है।


नए 9,170 कोविड मामलों में से देश की वाणिज्यिक राजधानी से 6,180 केस शामिल हैं। इसके बाद पुणे सर्कल से 686, नासिक सर्कल से 162, कोल्हापुर सर्कल से 82, नागपुर सर्कल से 62, लातूर सर्कल से 58, औरंगाबाद सर्कल से 31 और अकोला सर्कल से 12 मामले सामने आए हैं।
होम क्वारंटीन में भेजे गए लोगों की संख्या 175,592 से बढ़कर 226,001 हो गई और अन्य 1,064 को संस्थागत क्वारंटीन किया गया है।

मुंबई, पुणे और ठाणे सबसे अधिक सक्रिय मामलों के साथ शीर्ष पर बने हुए हैं। महामारी की शुरुआत के बाद से राज्य में कोविड-19 के कुल 66,87,991 मामले सामने आ चुके हैं और संक्रमण की वजह से 141,533 मौतें हो चुकी हैं। इसके साथ ही 65,10,541 मरीज पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia