इस लड़ाई में मैं अकेला नहीं हूं, उद्धव ठाकरे और शरद पवार का पूरा समर्थन और आशीर्वाद हैः नवाब मलिक

नवाब मलिक ने कहा कि मैं अकेले लड़ सकता हूं, लेकिन मुझे सभी शीर्ष नेताओं का पूरा समर्थन और आशीर्वाद है जो मुझे ताकत देता है। मैंने कुछ चीजों को साफ करने की जिम्मेदारी ली है और इसे जारी रखूंगा।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

नवजीवन डेस्क

महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने गुरुवार को विपक्षी बीजेपी के आरोपों को खारिज कर दिया कि वह महा विकास अघाड़ी सरकार के किसी भी व्यक्ति का समर्थन के बिना ही 'एकांत लड़ाई' लड़ रहे हैं। मलिक ने मीडियाकर्मियों से कहा, "मैं अकेला नहीं हूं.. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, राकांपा अध्यक्ष शरद पवार, सभी मंत्री, सरकार और पार्टी मेरे साथ मजबूती से खड़े हैं।"

यह बयान सीएम उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में राज्य मंत्रिमंडल द्वारा नवाब मलिक के छह सप्ताह से चल रहे युद्ध की सराहना करने के एक दिन बाद आया है, जिसमें उन्होंने नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े, बीजेपी नेताओं और संबंधित लोगों के कथित कृत्यों को उजागर किया है। नवाब मलिक ने कहा, "मैं अकेले लड़ सकता हूं.. लेकिन मुझे सभी शीर्ष नेताओं का पूरा समर्थन और आशीर्वाद है जो मुझे ताकत देता है। मैंने कुछ चीजों को साफ करने की जिम्मेदारी ली है और इसे जारी रखूंगा।"


पिछले लगभग छह हफ्तों में, मलिक ने वानखेड़े पर कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। इसके अलावा मलिक ने विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस पर भी कई सनसनीखेज आरोप लगाए हैं। वहीं फडणवीस ने भी पलटवार करते हुए मलिका के कुर्ला में जमीन के एक पुराने लेन-देन के बारे में बताया, जिसके बारे में उन्होंने दावा किया कि मलिक के अंडरवर्ल्ड के साथ व्यापारिक संबंध थे।

नवाब मलिक ने फडणवीस के कथित खुलासे के साथ पलटवार किया, जिसमें माफिया से जुड़े एक व्यक्ति को प्रधानमंत्री के एक कार्यक्रम में शामिल होने और यहां तक कि तस्वीरें क्लिक करने की अनुमति देने का आरोप लगाया। इसके बाद फडणवीस ने जॉर्ज बर्नार्ड शॉ के हवाले से एक ट्वीट किया, "मैंने बहुत पहले सीखा, सुअर के साथ कुश्ती नहीं करनी चाहिए। आप गंदे हो जाते हैं और इसके अलावा, सुअर इसे पसंद करता है!"

इस पर नवाब मलिक ने यह कहते हुए पलटवार किया कि 'लोगों को जानवरों की उपाधि देना बीजेपी की संस्कृति है' क्योंकि उनके मन में इंसानों के प्रति कोई सम्मान नहीं है।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia