BJP में शामिल नहीं होने पर मुझे भेजा गया तिहाड़ जेल, समर्थन नहीं करने का लिया गया था बदला- डीके शिवकुमार

राज्य में कांग्रेस को खत्म करने का दावा करने वाले येदियुरप्पा पर निशाना साधते हुए शिवकुमार ने कहा कि उनके करीबी सहयोगियों पर छापा मारा गया और उन्हें पार्टी में हर रोज प्रताड़ित किया जा रहा है। इसलिए वह अपनी सारी निराशा कांग्रेस पर निकाल रहे हैं।

फाइल फोटोः सोशल मीडिया
फाइल फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

कर्नाटक कांग्रेस अध्यक्ष डी. के. शिवकुमार ने सोमवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में शामिल नहीं होने की वजह से उन्हें तिहाड़ जेल भेजा गया था। कांग्रेस नेता ने कहा कि बीजेपी में शामिल नहीं होने का उनसे एक तरह से बदला लिया गया था। शिवकुमार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया था और वह 2019 में 50 दिनों के लिए तिहाड़ जेल में बंद रहे थे।

बीजेपी सरकार के मंत्री के. एस. ईश्वरप्पा के सवाल पर कि उन्हें आखिर तिहाड़ जेल क्यों भेजा गया था, कांग्रेस नेता शिवकुमार ने आज कहा, "मुझे आपका (बीजेपी) समर्थन नहीं करने के लिए जेल में बंद किया गया था। मुझे जेल में डाल दिया गया था, क्योंकि लोग परेशान थे कि मैं बीजेपी में शामिल नहीं हुआ।" उन्होंने आगे कहा कि वह जो कह रहे हैं, उसके रिकॉर्ड भी मौजूद हैं।


शिवकुमार ने राज्य में सत्तारूढ़ बीजेपी से सवाल किया कि वह महादयी परियोजना को लागू करने से क्यों हिचकिचा रही है। उन्होंने कहा, बीजेपी राज्य के साथ-साथ केंद्र में भी सत्ता में है, फिर देरी क्यों हो रही है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई सब कुछ जानते हैं। उन्होंने जल संसाधन विभाग को संभाला है। लेकिन उनके कैबिनेट मंत्री ईश्वरप्पा राज्य में मुख्यमंत्री बदलने की बात कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि कर्नाटक भ्रष्टाचार के मामले में शीर्ष पर है।

उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा पर तंज भी कसा, जिन्होंने कहा था कि वह राज्य में कांग्रेस को खत्म कर देंगे। शिवकुमार ने कहा कि येदियुरप्पा के करीबी सहयोगियों पर छापा मारा गया है और उन्हें पार्टी में हर रोज प्रताड़ित किया जाता है। इसलिए वह अपनी सारी निराशा कांग्रेस पर निकाल रहे हैं। वह बीजेपी में किसी के खिलाफ ऐसा नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि कर्नाटक में बीजेपी नेता खुद राज्य सरकार में अस्थिरता पैदा कर रहे हैं।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia