अमेरिका में उपराष्ट्रपति पेंस ने ट्रंप को हटाने से किया इनकार, अब संसद में महाभियोग की कार्रवाई तय

अमेरिकी सीनेट को आज ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की उम्मीद है, क्योंकि पेंस और कैबिनेट के इस प्रस्ताव का पालन करने और संविधान के 25वें संशोधन के तहत कार्रवाई करने के लिए सहमत होने की संभावना नहीं है, जो ट्रंप को व्हाइट हाउस से बाहर करने के लिए बहुमत देता है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

अमेरिका के उप राष्ट्रपति माइक पेंस द्वारा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को 25वें संशोधन का इस्तेमाल कर पद से हटाने के लिए मना करने के बाद ट्रंप के खिलाफ दूसरे महाभियोग के लिए मंच तैयार हो चुका है। प्रतिनिधि सभा ने उनके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग करते हुए एक प्रस्ताव पारित किया था।

मंगलवार को ट्रंप से मिले पेंस ने स्पीकर नैन्सी पेलोसी को लिखा कि वह ट्रंप को एक संवैधानिक कदम के माध्यम से हटाने के उनके अनुरोध को स्वीकार नहीं करेंगे। नैन्सी पेलोसी ने ट्रंप को हटाने के लिए पेंस को 24 घंटे का नोटिस दिया था और ऐसा न करने पर महाभियोग के लिए तैयार रहने को कहा था।

इस बीच अमेरिकी सीनेट को बुधवार को ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की उम्मीद है, क्योंकि पेंस और कैबिनेट के इस प्रस्ताव का पालन करने और संविधान के 25वें संशोधन के तहत कार्य करने के लिए सहमत होने की संभावना नहीं है, जो ट्रंप को व्हाइट हाउस से बाहर करने के लिए बहुमत देता है। इस बीच ट्रंप ने कहा, "यह महाभियोग जबरदस्त गुस्सा पैदा कर रहा है और यह वास्तव में एक भयानक चीज है जो वे कर रहे हैं।"

ट्रंप के महाभियोग के मसौदे में अमेरिका की सरकार के खिलाफ हिंसा को उकसाने का आरोप है, जो उनके समर्थकों द्वारा कैपिटल हिल में किए गए हमले से संबंधित है। अपने भाषण में ट्रंप ने जोर देकर कहा था कि चुनाव एक धोखाधड़ी था। पिछले बुधवार को उनकी इस बयानबाजी के बाद उनके समर्थकों का हुजूम कैपिटल पर उमड़ पड़ा था, जिन्होंने जमकर उत्पात मचाया था। इस घटना के वक्त अमेरिक कांग्रेस जो बाइडेन के इलेक्टोरल कॉलेज के वोटों को प्रमाणित करने की प्रक्रिया में थी। इस हमले में एक पुलिस अधिकारी सहित पांच लोगों की मौत हो गई थी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


लोकप्रिय
next