इनकम टैक्स के छापे पर BBC का आया पहला बयान, कहा- हम पूरा सहयोग कर रहे हैं, जल्द स्थिति सुलझने की उम्मीद

एडीटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने भी बीबीसी पर इनकम टैक्स की छापेमारी पर चिंता जताई है और कहा कि यह कार्रवाई सरकार की आलोचना करने वाले मीडिया समूह को विभिन्न एजेंसियों के जरिये प्रताड़ित करने की प्रक्रिया का हिस्सा है जो वर्तमान सरकार के दौर में चली आ रही है।

दिल्ली में बीबीसी दफ्तर में आयकर की छापेमारी के दौरान बिल्डिंग के बाहर खड़े लोग
दिल्ली में बीबीसी दफ्तर में आयकर की छापेमारी के दौरान बिल्डिंग के बाहर खड़े लोग
user

आसिफ एस खान

बीबीसी के दिल्ली-मुंबई स्थित दफ्तरों पर आयकर विभाग की छापेमारी के बाद हर तरफ से प्रतिक्रिया आ रही है। अब इस मामले पर बीबीसी का आधिकारिक बयान भी सामने आ गया है। बीबीसी ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए कहा है कि आयकर विभाग के सर्वे पर हम पूरा सहयोग कर रहे हैं।

बीबीसी न्यूज प्रेस टीम ने अपने बयान में कहा कि आयकर अधिकारी इस समय नई दिल्ली और मुंबई में बीबीसी कार्यालयों में हैं और हम पूरा सहयोग कर रहे हैं। हम उम्मीद करते हैं कि यह स्थिति जल्द से जल्द सुलझ जाएगी। अपने पहले बयान में बीबीसी ने अधिकारियों को सहयोग की बात कही है।

इससे पहले मंगलवार सुबह अचानक ब्रिटिश ब्रॉडकास्टिंग सर्विसेस (बीबीसी) के मुंबई और दिल्ली के दफ्तरों पर इनकम टैक्स विभाग की अलग-अलग टीम पहुंच गई और सभी कर्मचारियों के फोन अपने कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी । इनकम टैक्स की टीम ने दफ्तर में किसी के आने-जाने पर भी पाबंदी लगा दी। सर्वे कर रही है। सूत्रों की माने तो टैक्स चोरी से जुड़े मामले को लेकर यह सर्वे किया जा रहा है।


बीबीसी के दफ्तर पर छापेमारी को लेकर देश भर से तीखी प्रतिक्रियाएं आ रही है। मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने इसे अघोषित आपातकाल करार दिया है। कांग्रेस ने कहा कि पहले बीबीसी डॉक्यूमेंट्री पर रोक लगाई गई और अब दफ्तर पर छापेमारी की गई। साफ है कि सरकार बुरी तरह से डर गई है। वहीं पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती, शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी समेत कई दलों के नेताओं ने भी बीबीसी के दफ्तर पर इनकम टैक्स विभाग की छापेमारी पर सवाल उठाया है।

इस बीच एडीटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने भी बीबीसी पर इनकम टैक्स की छापेमारी पर चिंता जताई है और कहा है कि आय़कर विभाग की ताजा छापेमारी सरकार की आलोचना करने वाले मीडिया समूह को विभिन्न एजेंसियों के जरिये प्रताड़ित करने की प्रक्रिया का हिस्सा है जो वर्तमान सरकार के दौर में चली आ रही है।

Google न्यूज़नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia


Published: 14 Feb 2023, 4:25 PM
;