बड़ी कार्रवाई में वॉट्सऐप ने भारत में 20 लाख अकाउंट बंद किए, आईटी नियमों और शर्तों के उल्लंघन का आरोप

वॉट्सऐप के एक प्रवक्ता ने बताया कि यूजर सिक्योरिटी रिपोर्ट में शिकायतों की जानकारी दी गई है। वॉट्सऐप अपने प्लेटफॉर्म के दुरुपयोग को रोकने के लिए अपनी कार्रवाई जारी रखेगा। प्रवक्ता ने कहा कि हमारा ध्यान प्लेटफॉर्म पर स्पैम और अनचाहे मैसेजेस को रोकने पर है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

वॉट्सऐप की मंगलवार को जारी मंथली कंप्लायंस रिपोर्ट से पता चला है कि मैसेजिंग ऐप ने अगस्त में भारत में 20 लाख से भी ज्यादा यूजर्स के अकाउंट बंद किए हैं। यह कार्रवाई भारत के नए आईटी नियमों और वॉट्सऐप की शर्तों का उल्लंघन करने वाले यूजर्स के खिलाफ की गई है। इससे पहले वॉट्सऐप ने भारत में 16 जून से 31 जुलाई के बीच 3 लाख अकाउंट्स को बंद कर दिया था। दुनिया में दुरुपयोग के मामले पर वॉट्सऐप औसतन हर महीने 80 लाख अकाउंट्स को बैन करता है।

रिपोर्ट के मुताबिक, वॉट्सऐप ने बिना अनुमति के ऑटोमेटेड या बल्क मैसेजेस भेजे जाने की वजह से 20 लाख 70 हजार अकाउंट्स को बंद किया है। बताया गया है कि अगस्त के दौरान वॉट्सऐप को इस संबंध में 420 शिकायतें मिली थीं। इनमें प्रतिबंध अपील की 222, अकाउंट सपोर्ट की 105, प्रोडक्ट सपोर्ट की 42, सुरक्षा की 17 और दूसरे अन्य सपोर्ट की 34 शिकायतें शामिल थीं।


वॉट्सऐप के एक प्रवक्ता ने बताया कि यूजर सिक्योरिटी रिपोर्ट में शिकायतों की जानकारी दी गई है। वॉट्सऐप अपने प्लेटफॉर्म के दुरुपयोग को रोकने के लिए अपनी कार्रवाई जारी रखेगा। प्रवक्ता ने कहा कि हमारा ध्यान प्लेटफॉर्म पर स्पैम और अनचाहे मैसेजेस को रोकने पर है। वॉट्सऐप ने अपने सपोर्ट ऑप्शन में बताया है कि वह शिकायत चैनल के माध्यम से यूजर की शिकायतें दर्ज करता है।

वॉट्सऐप यूजर्स की शिकायतों पर मंथली कंप्लायंस रिपोर्ट पब्लिश करता है। दरअसल भारत सरकार ने 26 मई को नए आईटी नियम लागू किए हैं, जिनके मुताबिक 50 लाख से अधिक यूजर्स वाले किसी भी डिजिटल प्लेटफॉर्म को हर महीने कंप्लायंस रिपोर्ट पब्लिश करना जरूरी है। इस रिपोर्ट में मिली शिकायतों और उनके आधार पर हुई कार्रवाई की जानकारी देनी होगी।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia