सत्तापक्ष और उसके नेताओं का विभाजनकारी एजेंडा अब राजनीतिक विमर्श की एक नियमित विशेषता बन गया है- सोनिया गांधी

सोनिया गांधी ने कहा कि उन्होंने कहा कि मैं अच्छी तरह से जानती हूं कि हाल के चुनाव परिणामों से आप कितने निराश हैं। वे चौंकाने वाले और कष्टकारी दोनों रहे हैं। कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) ने हमारे प्रदर्शन की समीक्षा के लिए एक बार बैठक की है।

फोटो: @INCIndia
फोटो: @INCIndia
user

नवजीवन डेस्क

दिल्ली में कांग्रेस कि अंतरिम अध्यक्षा सोनिया गांधी ने कांग्रेस संसदीय दल की बैठक को सम्बोधित किया। सोनिया गांधी ने संसदीय दल को संबोधित करते हुए कहा कि लोकतंत्र के लिए कांग्रेस पार्टी का पुनरुद्धार जरूरी है। साथ ही उन्होंने कहा कि चुनाव के नतीजे 'चौंकाने वाले' और 'निराशाजनक' रहे हैं। अपने संबोधन में उन्होंने कहा, "हमारे विशाल संगठन के सभी स्तरों पर एकता सर्वोपरि है और हम इसे सुनिश्चित करने के लिए जो कुछ भी आवश्यक है उसे करने के लिए दृढ़ संकल्पित हैं। हमारा पुनरुत्थान केवल हमारे लिए ही महत्व का विषय नहीं है। वास्तव में, यह हमारे लोकतंत्र के लिए और हमारे समाज के लिए भी आवश्यक है।"

उन्होंने कहा, "मैं अच्छी तरह से जानती हूं कि हाल के चुनाव परिणामों से आप कितने निराश हैं। वे चौंकाने वाले और कष्टकारी दोनों रहे हैं। कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) ने हमारे प्रदर्शन की समीक्षा के लिए एक बार बैठक की है। मैंने अन्य सहयोगियों से भी मुलाकात की है। मुझे हमारे संगठन को कैसे मजबूत किया जाए, इस पर कई सुझाव प्राप्त हुए हैं। कई प्रासंगिक हैं और मैं उन पर काम कर रही हूं।"


कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि एक रोडमैप तैयार करना जरूरी है और इसके लिए एक 'शिविर' (बैठक) आयोजित की जानी चाहिए। उन्होंने कहा, "यही वह जगह है जहां बड़ी संख्या में सहयोगियों और पार्टी के प्रतिनिधियों के विचार सुने जाएंगे। वे हमारी पार्टी द्वारा उठाए जाने वाले तत्काल कदमों पर एक स्पष्ट रोडमैप को आगे बढ़ाने में योगदान देंगे कि हम जिन चुनौतियों का सामना कर रहे हैं, उन्हें कैसे पूरा किया जाए।"

उन्होंने यह भी कहा कि आगे की राह पहले से कहीं ज्यादा चुनौतीपूर्ण है। गौरतलब है कि कांग्रेस उन सभी पांच राज्यों में चुनाव हार गई, जहां फरवरी-मार्च में चुनाव हुए थे। वहीं बीजेपी ने चार राज्यों में अपने विजयी प्रदर्शन को दोहराया।

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia