महामारी में पेट्रोल-डीजल पर टैक्स लगाकर सरकार ने कमाए 2.5 लाख करोड़, लोगों को क्या मिला? प्रियंका गांधी का सवाल

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने फेसबुक पर एक तस्वीर पोस्ट लिखा कि जब देश आपदा में था, लोग आर्थिक संकट झेल रहे थे। तब सरकार ने पेट्रोल डीजल पर टैक्स लगाकर 2.5 लाख करोड़ कमाए। आम लोगों को क्या मिला?

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

नवजीवन डेस्क

देश में कोरोना की दूसरी लहर जारी है। इस बीच देश के लोगों पर दोहरी मार जारी है। पेट्रोल और डीजल पर बीते एक साल में मोदी सरकार ने टैक्स लगाकर 2.5 लाख करोड़ रुपए कमाए है। यह बात कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने फेसबुक पर एक तस्वीर पोस्ट करते हुए कहा है।

उन्होंने पोस्ट में लिखा, “जब देश आपदा में था, लोग आर्थिक संकट झेल रहे थे। तब सरकार ने पेट्रोल डीजल पर टैक्स लगाकर 2.5 लाख करोड़ कमाए। आम लोगों को क्या मिला?

6 जून 2020 को

पेट्रोल का दाम: 71 रू

डीजल का दाम: 69 रू

6 जून 2021

पेट्रोल का दाम: 95 रू

डीजल का दाम: 85 रू

बता दें कि प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार के खिलाफ 'जिम्मेदार कौन?' अभियान चल रखा है। इस अभियान के तहत प्रियंका गांधी मोदी सरकार के सामने सवालों की झड़ी लगा रही है। 8 जून को उन्होंने लिखा था, “कोविड से हुई मौतों के बारे में सरकार के आंकड़ों और श्मशानों-कब्रिस्तानों के आंकड़ों में इतना फर्क क्यों? मोदी सरकार ने आंकड़ों को जागरूकता फैलाने और कोविड वायरस के फैलाव को रोकने का साधन बनाने के बजाय प्रोपागैंडा का साधन क्यों बना दिया?” उन्होंने एक बार फिर पूछा इसके लिए जिम्मेजदार कौन है?

नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia